मोदी सरकार ने मंहगाई में रचा इतिहास, पहली बार पेट्रोल से महंगा हुआ डीजल, वायरल हुए बीजेपी नेताओं के पुराने वीडियो

कोरोना वायरस म’हामारी के चलते जहां एक तरफ देश की जनता के कामकाज, रोजगार और धंधे लॉकडाउन के चलते मंदे पड़ गए है ऐसे में दूसरी तरफ केंद्र की मोदी सरकार के राज में मंहगाई आसमान छूती जा रही है. जनता को इस भीषण संक’ट में भी मंहगाई से राहत मिलती नजर नहीं आ रही हैं. इसी बीच बुधवार को तेल कंपनियों ने एक बार फिर से तेल के दामों में बढ़ोतरी कर दी हैं. जिससे मंहगाई की मा’र झेल रही जनता की कमर ही टूट गई हैं.

यह बढोतरी का लगातार 18वां दिन हैं. हालांकि आज डीजल के दामों में सिर्फ 48 पैसे की बढ़ोतरी की गई है जबकि पेट्रोल के दाम में कोई बदलाव नहीं हुआ है. लेकिन इस बढ़ोत्तरी के साथ ही डीजल के दाम पेट्रोल से भी ज्यादा हो चुके हैं. बता दें कि यह पहला मौका है जब डीजल पेट्रोल को पछाड़ कर उससे भी मंहगा हुआ हैं.

आम चुनावों में बीजेपी द्वारा दिया गया नारा

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पिछले 18 दिनों के अंदर डीजल की कीमत में 10.48 रुपए और पेट्रोल की कीमत में 8.50 रुपए की बढ़ोतरी हो चुकी हैं. जबकि इस दौरान अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 35-40 डॉलर प्रति बैरल के बीच ही बनी हुई हैं. इसके बाद भी सरकार आम आदमी को राहत देने की वजहें कीमतों में इजाफा किये जा रही हैं.

इसी बीच सोशल मीडिया पर पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी के लिए बीजेपी सरकार की जमकर आलोचना हो रही हैं. पीएम मोदी समेत कई बीजेपी नेताओं का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहे है. इन वीडियो में बीजेपी नेता यूपीए काल में तेल बढ़ोतरी होने पर कांग्रेस सरकार को निशाने साधा रहे हैं.

इस पुराने वीडियो में दिवंगत बीजेपी नेता अरुण जेटली कहते हैं कि दुनियाभर में कच्चे तेल की कीमत पिछले दो महीने में कम हुई हैं फिर सात रुपए बढ़ाने का कोई औचित्य नहीं है.

इसी वीडियो में एक क्लिप में बीजेपी नेता और मौजूदा मंत्री प्रकाश जावड़ेकर की भी है जो कह रहे हैं कि कांग्रेस सरकार ने पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी की है जबकि इसका कोई आधार नहीं है. जिस दिन अंतर्राष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतें कम हुई हैं उसी दिन तेल के दाम बढ़ाए गए.

उन्होंने आगे कहा कि हम सरकार को चुनौती दे सकते है कि दिल्ली में पूरी तरह से रिफाइंड तेल 34 रुपए प्रतिलीटर और मुंबई में 36 रुपए प्रतिलीटर मिल सकता है तो फिर दोगुने दाम क्यों वसूले जा रहे हैं. आज प्रकाश जावड़ेकर केंद्र सरकार में मंत्री है और आज भी दोगुने दाम वसूले जा रहे है लेकिन आज वह चुप्पी साधे हुए हैं.

वहीं वीडियो में तब के गुजरात के सीएम नरेंद्र मोदी कह रहे है कि जिस तरह से सरकार ने पेट्रोल के दाम बढ़ाए है, यह केंद्र सरकार की शासन चलाने की नाकामी का जीता जागता सबूत है. देश के आम आदमी में भारी आक्रोश है. मैं आशा करता हूँ कि पीएम देश की स्थिति को गंभीरता देखते हुए बढ़ाए गए दाम को वापस लें.

साभार- जनसत्ता