VIDEO: पाकिस्तान की संसद में लगे वोटिंग-वोटिंग के नारों को भारतीय मीडिया के एंकरों ने मोदी-मोदी के नारे बताकर कार्यक्रम चलाया?

भारतीय मीडिया फेक न्यूज़ की फैक्टरियां बनती जा रही है. कई मीडिया चैनलों द्वारा चलाई गई खबरें झूठी साबित होती रही है लेकिन इसके बाद भी मीडिया अपनी जवाबदेही नहीं समझ रहा है. हाल ही में मीडिया के एक समूह ने 28 अक्टूबर को बड़ी खबर बताते हुए पाकिस्तानी संसद में मोदी मोदी के नारे लगाने की खबरें चलाई. गोदी मीडिया के कई चैनलों ने इस खबर को प्रसारित करते हुए दावा किया कि पाक संसद में मोदी के नाम के नारे लगाए गए.

इंडिया टीवी के वरिष्ठ एंकर रजत शर्मा ने अपने कार्यक्रम के दौरान इस खबर को प्रसारित किया और साबित किया था कि पाकिस्तानी संसद में मोदी-मोदी के नारे गूंजे है और इसका एक वीडियो भी प्रसारित किया गया था जो देखते ही देखते सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा.

deepak chaurasia

इसके बाद कई और न्यूज़ चैनलों ने भी इस खबर को इसी दावे के साथ प्रसारित किया. जिसमें न्यूज़ नेशन के एंकर दीपक चौरसिया भी शामिल रहे. दीपक चौरसिया ने दावा किया कि पाकिस्तानी संसद में मोदी मोदी के नारे लगाए गए लेकिन सवाल यह है कि क्या इन्होने ध्यान से वीडियो को सुना था कि किस तरफ के नारे पाकिस्तानी संसद में लाए जा रहे है.

इस गोदी मीडिया की भक्ति ही कहा जा सकता है जो उन्हें इस वीडियो में भी मोदी-मोदी सुनाई दे गया. एक सामान्य सी बात है कि अगर आप किसी को अपने दिमाग में रखकर कोई वीडियो या ऑडियो सुनते है तब आपके दिमाग में वहीं बातें घुमती है तो आपको लगता है कि जो आपकी सोच में है वहीं इसमें है.

जबकि वीडियो को अगर कोई भी ध्यान से सुने तो साफ हो जाएगा कि नारे किस बात को लेकर लगाए जा रहे है. लेकिन यह मीडिया एंकरों का गैरजिम्मेदाराना रवैये ही है जो उन्हें पाकिस्तानी संसद में मोदी मोदी के नारे पड़ गए. इसके बाद तो इस वीडियो को इसी दावे के साथ कई बीजेपी नेताओं ने भी शेयर किया.

लेकिन जब यह वीडियो वायरल होने लगा तो इस पर फैक्ट चैक पर किये गए जिसमें वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा घोखला साबित हुआ. अगर कोई भी वीडियो को ध्यान से सुने को सुनाई देता है कि पाकिस्तानी सांसद मोदी-मोदी नहीं बल्कि वोटिंग-वोटिंग के नारे लगा रहे थे.

इसे लेकर न्यूज़ वेबसाइट अल्ट न्यूज ने इसे लेकर बताया कि पाकिस्तान की संसद में 26 अक्टूबर को चल रही एक बहस का यह वीडियो है. वीडियो में सांसद वोटिंग वोटिंग के नारे लगाते सुनाई दे रहे है. लेकिन मीडिया ने इसे गलत और झूठे दावों के साथ प्रसारित किया.

साभार- अल्ट न्यूज