PM मोदी को डिवाइडर इन चीफ बताने वाले लेखक आतिश तासीर को लेकर आई खबर, भारत ने छीन लिया था OCI कार्ड

PM मोदी को डिवाइडर इन चीफ बताने वाले लेखक आतिश तासीर को लेकर आई खबर, भारत ने छीन लिया था OCI कार्ड

मशहूर टाइम मैगजीन में लिखे गए अपने एक लेख में आतिश तासीर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को डिवाइडर इन चीफ बताकर विवाद खड़ा करके खुर्खियों में आए थे. अब आतिश एक बार फिर चर्चा में आ गए, दरअसल आतिश तासीर को अमेरिकी नागरिकता मिल गई है. यह जानकारी तासीर ने अपने एक ट्वीट में दी. आपको बता दें कि भारत ने आतिश का ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया (ओसीआई) दर्जा ख’त्म कर दिया था.

इसी के बाद आतिश ने एक ट्वीट किया और इसमें ओसीआई ख’त्म करने का जिक्र भी किया. अपने ट्वीट में आतिश ने लिखा कि कुछ खबरः लोअर मैनहेट्टन में शपथ ग्रहण समारोह के दौरान. अब मैं एक अमेरिकी नागरिक बन चूका हूं.

उन्होंने आगे लिखा कि मुझे एक साल से भी कम समय में अमेरिकी नागरिकता मिल गई है वो भी ऐसे समय में जब मोदी सरकार ने मुझसे भारत में यह दर्जा छुन लिया था. इस महान देश का हिस्सा बनना अद्भुत है.

उन्होंने आगे लिखा कि मुझे उम्मीद है कि मैं नवंबर में होने वाले चुनाव में पहली बार वोट दे सकूंगा- उस बड़े दिल के लिए जो मैंने आज देखा हैं.

आपको बता दें कि पिछले साल आतिश तासीर ने टाइम मैग्जीन में एक कवर स्टोरी लिखी थी, जिसमें उन्होंने पीएम मोदी की जमकर आलोचना की थी और उन्हें India’s Divider in Chief तक बता दिया था.

तासीर का यह लेख काफी विवादों में रहा. टाइम मैग्जीन में प्रकाशित किये गए तासीर के इस लेख में पीएम मोदी के कामकाज पर सख्त आलोचनात्मक टिप्पणी की गई थी और नेहरू के समाजवाद और भारत की मौजूदा सामाजिक परिस्थिति की तुलना भी तासीर ने की थी.

लेख में तासीर ने लिखा कि मोदी ने हिंदू और मुसलमानों के बीच भाईचारा बढ़ाने की कोई इच्छा नहीं जताई है. उन्होंने लिखा कि मोदी राज में धार्मिक राष्ट्रवाद, मुसलमानों के खिलाफ भावनाएं और जातिगत कट्टरता को पनप रही हैं.

लेकिन इसके कुछ ही समय बाद भारत सरकार ने आतिश का ओसीआई कार्ड रद्द कर दिया. इसके पीछे की वजह तासीर द्वारा अपने दस्तावेजों में उनके पिता के पाकिस्तानी मूल के होने की बात छिपना बताया गया था. जिस पर तासीर ने आरोप लगाया था कि उन्हें गृह मंत्रालय ने जवाब देने के लिए पर्याप्त समय नहीं दिया था.

साभार- जनसत्ता