तबलीगी जमातियो को ढूंढने मस्जिद में घु’सी पुलिस, स्थानीय लोगों ने पी’टा, चलीं गोलि’याँ

नई दिल्ली: दुनिया भर में कोराना वायरस को लेकर गहमा-गहमी मची हुई है. वही देश में भी यह म’हामा’री काफी तेजी से फेल रही है। भारत में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1400 के पार पहुंच गया है, जबिक 38 लोगों की मौ’त हो चुकी है. लेकिन इसी बीच में दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात में कई लोगों के कोरोना पॉजिटिव वाली घट’ना से सबको हैरान कर दिया आलम ये है कि देश की कई मस्जिदों में इस तरह की खबरें सामने आ रही है।

अब ताजा मामला है बिहार के मधुबनी जिले से आ रहा है. जहाँ तब्लीग जमात से जुड़े लोगों को तलाशने के लिए पहुंची पुलिस पर स्थानीय लोगों ने पत्थर फैंके, इतने पर भी उनको सब्र नहीं हुआ और उन्होंने वहां पुलिस के पहुंचने पर गावं के लोगों ने ने बन्दूक भी चलायी. जिसमे कई पुलिसकर्मी और अधिकारी हताहत होने की खबर है.

आईजी अजिताभ कुमार के मुताबिल, मस्जिद में कुछ जमाती लोगों के जुटे होने की सूचना मिली थी, इस जानकारी पर झंझारपुर एसडीओ इस बात का सत्यापन करने गए थे कि वहां कोई बाहर का व्यक्ति तो नहीं आया हुआ है। इसी दौरान पुलिस पर पत्थरबा’जी हो गई।

वही अब इस मामले पर मधुबनी के एसपी डॉ सत्यप्रकाश का कहना है कि तबलीगी जमात की तलाश में पुलिस की टीम मस्जिद पहुंची थी। लेकिन, मस्जिद से अचानक पथरा’व और फायरिं’ग होने लगी। एसपी का कहना है कि इस पथरा’व में स्थानीय लोगों ने भी सहयोग किया।

उन्होंने बताया कि तबलीगी जमात समर्थकों के हम’ले के बाद बीडीओ और थानेदार किसी तरह वहां से जा’न बचाकर भागे। लेकिन हिं’सा पर उतारू ह’मला’वरों ने प्रशासन की एक गाड़ी में तोड़फो’ड़ कर उसे तालाब में गि’रा दिया। हलाकि पुलिस ने इस मामले में 15 लोगों के खिला’फ नामजद एफआईआर दर्ज की है।

आपको बता दें कि दिल्ली के निजामुद्दीन में 10 से 15 मार्च के बीच एक मजहबी जलसा हुआ था। इसमें देशभर से लोग आए थे। इन लोगों में से बहुत से लोग कोरोना पॉजिटि’व पाए गए हैं। जिसके बाद देश के अलग-अलग हिस्सों में उन लोगों को ढूंढा जा रहा है, जो इस कार्यक्रम के लिए आए थे।

Leave a Comment