पुलिसकर्मियों के ह’त्या’रे विकास दुवे के समर्थन में आया यह टीचर, पुलिस ने सिखाया कड़ा सबक दिया

यूपी के कानपुर में अपराधी विकास दुबे ने पुलिस टीम पर गो’लि’यां बरसाई जिसमें कई पुलिस वाले श’हीद हो गए. इसके बाद से ही विकास दुबे फरार है, पुलिस उसे पकड़ने के लिए छापामारी कर रही है लेकिन वह कहीं पर छुपा बैठा है. इसी बीच सोशल मीडिया पर विकास की करतूतों की खूब आलोचना हो रही है, वहीं कुछ लोग विकास दुबे के साथ खड़े है और इसके इस कृ’त के लिए उसकी तारीफ भी कर रहे है.

यह मामला कानपुर से ही सामने आया है, शहर में कोचिंग इंस्टीट्यूट चलाने वाले एक शख्स ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर विकास का समर्थन किया है. इस शख्स का नाम किलकिल सचान बताया जा रहा है. सचान ने कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की ह’त्या के बाद एक फेसबुक पोस्ट लिखी हैं.

उसने विकास दुबे कि तारीफ करते हुए अपनी पोस्ट में लिखा कि ब्राह्मण हो तो विकास दुबे जैसा शेर, दुर्बल जनता को नहीं बल्कि पुलिस को मारा है. सलूट यू विकास दुबे जी.

वहीं मामला सामने आने के बाद किलकिल सचान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. सचान के खिलाफ आईटी एक्ट और दूसरी धाराओं के तहत मामले दर्ज किये गए है. सचान के आलावा और भी कई लोग सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर विकास दुबे का समर्थन कर रहे है. यह लोग विकास दुबे के हमले को सही ठहरा रहे है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कोचिंग इंस्टीट्यूट के संचालक किलकिल सचान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. सचान का कोचिंग इंस्टीट्यूट काकादेव इलाके में है. काकादेव थाने के इंस्पेक्टर कौशल किशोर ने बताया कि कई लोगों ने आरोपी सचान के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई दी जिसके बाद उसे केशवपुरम स्थित उसके घर से दबोच लिया गय.

वहीं इसे ही एक मामला फजलगंज से सामने आया है. इस मामले में आरोपी एक महिला है जिसके खिलाफ फजलगंज थाने में मामला दर्ज किया गया है. हिंदुस्तान अखबार के मुताबिक थाना प्रभारी ने बताया कि एक महिला पर विकास दुबे के जय-जयकार करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है. यह महिला रीता पांडेय सनातनी नाम से टि्वटर हैंडल चलती है फ़िलहाल इसकी गिरफ्तारी नहीं हुई हैं.