राष्ट्रपति पर पत्रकार की सख्त टिप्पणी, कहा- आप जैसे गुलामों को इतिहास में चमचा ही कहा जायेगा

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र के नाम अपना संबोधन दिया. संबोधन के दौरान उन्होंने नरेंद्र मोदी सरकार की जमकर तारीफ की. इसके साथ ही सरकार के आगे की रणनीति भी बताई. कोविंद ने संबोधन के दौरान कहा कि सिर्फ दस दिन पहले ही अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर के निर्माण का कार्य शुरू किया जा चूका हैं, यह पल सभी देशवासियों के लिए गौरव की अनुभूति करता हैं.

हालांकि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा राम मंदिर को लेकर दिये गए बयान पर काफी लोग नाखुश नजर आए. राष्ट्रपति की इन बातों से पत्रकार प्रशांत कनौजिया भ’ड़क उठे और उन से असहमति जाहिर करते हुए उन पर निशाना साधा.

पत्रकार प्रशांत कनौजिया ने एक ट्वीट करके कहा कि कितना भी समर्थन कर लो (राम मंदिर का) निमंत्रण तो मिला नहीं क्योंकि वो आपको एक अछूत मानते हैं. प्रशान्त कनौजिया इतने पर भी नहीं रुके उन्होंने आगे राष्ट्रपति को चमचा तक बता डाला.

पत्रकार प्रशान्त कनौजिया ने अपने ट्वीट में आगे लिखा कि आप जैसे गुलामों को ही भारत के इतिहास में चमचा ही कहा जायेगा. कांशीराम ने आप जैसे लोगों के लिए ही चमचा युग लिखा था. शर्म आनी चाहिए ऐसे राष्ट्रपति को. धिक्कार है.

आपको बता दे कि अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को न्योता नही भेजा गया था जबकि इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्य अतिथि थे और उन्होंने ही भूमिपूजन किया था.

आपको बता दें कि राष्ट्रपति ने अपने संबोधन में कहा था कि राम मंदिर के लिए देशवासियों ने लंबे वक्त तक धैर्य और संयम का अनूठा परिचय दिया है और देश की न्याय व्यवस्था पर हमेशा अपनी आस्था रखी. श्रीराम जन्मभूमि से जुड़े विवाद और न्यायिक प्रकरण को भी समुचित न्याय-प्रक्रिया के द्वारा सुलझाया गया हैं.

रामजन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट के फैसला का सभी पक्षों और देशवासियों द्वारा पूरे सम्मान के साथ स्वीकार किया गया जो शांति, अहिंसा, प्रेम एवं सौहार्द के मूल्यों के दुनिया के समक्ष एक बार फिर से प्रस्तुत करता हैं. इसके लिए मैं समस्त देशवासियों को दिल से बधाई देता हूं.