राजस्थान कांग्रेस में सियासी घमासान, गहलोत-पायलट ‘यु’द्ध’ के बीच सचिन पायलट हुए बागी, बोले- मैं भारतीय जनता पार्टी में…

राजस्थान में सियासी तूफ़ान उठाने की संभावनाएं बनती नजर आ रहे है. लेकिन इसी बीच सूबे के इस सियासी घमासान ने कांग्रेस नेता और राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बयान के बाद नया मोड़ ले लिया हैं. राजस्थान को लेकर चल रही तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए सचिन पायलट ने साफ कर दिया है कि वो किसी भी कीमत पर बीजेपी में शामिल नहीं होंगे. आपको बता दें कि सचिन पायलट रविवार को दिल्ली पहुंचे थे.

इसी के बाद से ही यह दावे किये जाने लगे कि राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं. सूत्रों के अनुसार दावा किया जा रहा था कि सचिन पायलट के पास बड़ी तादात में विधायकों का समर्थन हासिल है और वो बीजेपी के बड़े नेताओं के संपर्क में हैं.

इसके बाद से ही कई तरह की अटकलें लगाई जा रही थी. कहा जा रहा था कि सचिन पायलट जल्द ही कांग्रेस का थामन छोड़कर बीजेपी में शामिल हो सकते हैं. लेकिन अब उन अटकलों पर खुद सचिन पायलट ने विराम लगा दिया हैं.

सचिन पायलट ने कहा कि वह बीजेपी में शामिल नहीं होंगे. वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस लगातार अपने किले की घेराबंदी को मजबूत कर रही हैं. कांग्रेस ने सोमवार को दोपहर में अपने विधायकों की बैठक बुलाई हैं.

सूत्रों से प्राप्त हुई जानकारी के अनुसार इस बैठक में सचिन पायलट हिस्सा नहीं लेगें. इसी बीच कांग्रेस के कई बड़े नेता दिल्ली से जयपुर पहुंच चुके हैं और विधायकों से संपर्क साधे जा रहे है. कांग्रेस नेता अपने सभी विधायकों खरीद-फरोख्त से दूर रखने में जुटे हुए है.

आपको बता दें कि कांग्रेस हाईकमान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से नाराज बताई जा रही है क्योंकि विधायकों की खरीद-फरोख्त के मामले को लेकर सचिन पायलट से पूछताछ के लिए नोटिस जारी किया गया है.

वहीं इसी बीच सचिन पायलट ने संकेत दिए हैं कि वो भारतीय जनता पार्टी में नहीं जाएंगे लेकिन वह अपनी नई पार्टी जरूर बना सकते हैं. दरअसल सचिन पायलट प्रदेश कांग्रेस संगठन से पूछताछ का नोटिस जारी करने के चलते काफी नाराज हैं.