Yes Bank: मोदी की तारीफ कर नोटबंदी को मास्टरस्ट्रोक बताने वाले राणा कपूर के RBI ने बोरिया बिस्तर बांधे

भारत का चौथा सबसे बड़ा Yes Bank भारी नकदी के संकट से जूझ रहा है, बात दें 2004 में राणा कपूर ने अपने रिश्तेदार अशोक कपूर के साथ मिलकर यस बैंक की शुरुआत की थी. आज यह देश का चौथा सबसे बड़ा प्राइवेट बैंक है. पूरे देश में इसकी करीब 1000 से ज्यादा ब्रांच और 1800 से ज्याद एटीएम है. पीएम मोदी ने जब 2016 में नोटबंदी की थी, तो एमडी राणा कपूर ने इस कदम की तारीफ की थी। लेकिन अब इस बैंक के ग्राहकों की पूंजी फंस गई है।

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने नकदी संकट से जूझ रहे यस बैंक से निकासी की सीमा तय कर दी है. आरबीआई के आदेश के बाद अब ग्राहक एक महीने में 50 हजार रुपये से ज्यादा नहीं निकाल सकेंगे. आरबीआई के अनुसार, फिलहाल यह रोक पांच मार्च से तीन अप्रैल तक लगी रहेगी.आरबीआई ने यस बैंक के निदेशक मंडल को भी भंग करते हुए उस पर प्रशासक नियुक्त कर दिया है।

आपको बता दें आरबीआई ने बैंक के जमाकर्ताओं पर निकासी की सीमा सहित इस बैंक के कारोबार पर कई तरह की पाबंदिया भी लगा दी हैं. बैंक की मोबाइल और नेटबैंकिंग सेवा भी बंद कर दी गई है। ग्राहक काफी परेशान हैं और उन्हें अपनी जमा पूंजी को लेकर बहुत चिंता भी सताने लगी है।

अब यस बैंक संकट पर सोशल मीडिया यूजर प्रधानमंत्री मोदी और राणा कपूर पर निशाना साध रहे हैं। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लिखते हैं, नो यस बैंक। मोदी और उनके उपायों ने भारत की अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया।

वही वरिष्ठ पत्रकार अजित अंजुम ने लिखा है, मोदी मोदी करते रहे, यस बैंक को डुबाते रहे, ये हैं श्री राणा कपूर। यस बैंक के संस्थापक और डुबाबक। यस बैंक क्राइसिस के लिए जिम्मेदार इस शख्स का तो कुछ नहीं बिगड़ेगा, खाता धारकों का चैन हराम ज़रूर होगा। यस बैंक को बनाने और रसातल में पहचाने वाले कपूर साहब यही हैं।

आपको बता दें YES बैंक के एमडी द्वारा नोटबंदी की तारीफ करने वाला ट्वीट अब सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। लोग उनसे पूछ रहे हैं कि उन्हें अब यह मास्टर स्ट्रोक कैसा लगा।

ट्वीट का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए गुफरान राय पूछते हैं, #YesBank कैसा लगा मास्टर स्ट्रोक का असर। तो कई अन्य लोग भी चुटकियां ले रहे हैं। कोई पूछ रहा है राणा कपूर नोटबंदी के समर्थन का फल भुगत रहे हो तो कोई कह रहा है कि मोदी देश को कंगाल करके छोड़ेंगे।

यस बैंक में नकदी संकट की सूचना मिलते ही ग्राहकों में बैचेनी बढ़ गयी। यस बैंक के ग्राहक जल्द से जल्द अपना पैसा निकालने में जुट गए। कल गुरुवार देर रात यस बैंक के एटीएम में लोगों की भारी भी’ड़ जमा हो गई। इस दौरान यस बैंक की नेटबैंकिंग और एटीएम सेवा भी बंद हो गई।

YES बैंक के खाता धारकों को चिं’ता और बढ़ गई। राजस्थान के जयपुर और महाराष्ट्र के मुंबई समेत कई इलाकों में यस बैंक के एटीएम के बाहर लम्बी लम्बी कतार में लोग लग गए। मुंबई के एटीएम तो रातोंरात खाली भी हो गये।

अब ग्राहकों में इस बात का डर बैठ गया है कि बैंक में जमा इनकी गा’ढ़ी कमाई डूब सकती है। मुंबई में एटीएम में भी’ड़ बढ़ने पर पुलिस ने अ’लर्ट भी जारी कर दिया था।

Leave a Comment