भाजपा की पूर्व पार्षद का पति रेमडेसिविर ब्लैक में बेच रहा था, मेडिकल स्टोर सील, नेता फरार

कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन एक संजीवनी के समान है। देश के कई शहरों में अस्पतालों में भर्ती मरीजों के परिवारवाले इस इंजेक्शन के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। मरीज की जान पर बनी होती है, लेकिन फिर भी देश में कई शहरों में यह इंजेक्शन ब्लैक में बेचा जा रहा है। देश के की शहरों में इस इंजेक्शन की कालाबाजारी के मामले सामने आने के बाद देश में हड़कंप मचा हुआ है।

कुछ ऐसे ही मामले में 7 अप्रैल बुधवार के रोज रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाला ढक्कनवाला कुआं स्थित राज मेडिकल स्टोर का संचालक और भाजपा की पूर्व पार्षद मीना अग्रवाल का पति राजेंद्र अग्रवाल गुरुवार को दुकान बंद कर भाग गया।

रेमडेसिविर 5 गुना ज़्यादा कीमत पर मिलने की शिकायतें आ रही थीं

Medical Seal

स्टिंग के बाद गुरुवार को प्रशासन की टीम ने मेडिकल स्टोर को भी सील कर दिया है। अपर कलेक्टर अभय बेड़ेकर ने जानकारी देते हुए कहा कि मेडिकल का लाइसेंस भी सस्पेंड कर दिया गया है।

ड्रग कंट्रोलर जनरल इंडिया ने रेमडेसिविर की किल्लत को लेकर अब गुजरात,मप्र और महाराष्ट्र राज्यों को पत्र लिखते हुए कहा है कि गुजरात के सूरत, अहमदाबाद, राजकोट में मप्र के इंदौर, भोपाल, ग्वालियर के साथ और महाराष्ट्र के मुंबई, पुणे व अन्य जगह से इस इंजेक्शन की कमी होने के मामले सामने आ रहे है।

सभी राज्यों की सरकार इनके स्टॉक पर नजर रखते हुए इस कमी को दूर करे और इस दवा की कालाबाजारी पर भी ध्यान दिया जाए।

इंदौर को मिले 2000 रेमडेसिविर

मेडिकल कॉलेजों से जुड़े हुए कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों को रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए अब कहीं नहीं भटकना पड़ेगा। सरकार इन्हें नि:शुल्क ही रेमडेसिविर मुहैया करवा रही है।

चिकित्सा शिक्षा विभाग आयुक्त ने इस आशय के आदेश को जारी कर दिया हैं। इंदौर के एमजीएम मेडिकल कॉलेज को नोडल बनाया गया है, वहीं से प्रदेश के करीब 14 मेडिकल कॉलेजों के कोविड अस्पतालों को इंजेक्शन का वितरण किया जाएगा।

इंदौर में एमटीएच,एमआर टीबी अस्पताल, सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल और चेस्ट वार्ड में भर्ती मरीजों के लिए दो हजार इंजेक्शन की खेप कॉलेज को गुरुवार को मिल चुकी है।

डीन डॉ. संजय दीक्षित ने जानकारी देते हुए कहा कि प्रतिदिन के हिसाब से हमें इंजेक्शन मिलेंगे। 9 अप्रैल को 2978, 10 अप्रैल को 1489, 11 अप्रैल को 1489, 12 अप्रैल को 1489, 13 अप्रैल को 1489 डोज मिलेंगे।

पुणे (महाराष्ट्र) की रहने वाली 'बुशरा त्यागी' पिछले 5 वर्षों से एक Freelancer न्यूज़ लेखक (Writer) के तौर पर कार्य कर रही हैं। 16 साल की उम्र से ही इन्होंने शायरी, कहानियाँ, कविताएँ और आर्टिकल लिखना शुरू कर दिया था।