रुबिका लियाकत ने Fake News चलाकर कर दिया Pok पर स्ट्राइक, कांग्रेस नेता बोले- ये अंधभक्ति वाली पत्रकारिता नहीं…

POK में सर्जिकल स्ट्राइक की खबर निकली अफवाह, भारतीय सेना को देना पड़ा स्पष्टीकरण

सोशल मीडिया पर इस वक्त हैशटैग #AirStrike औऱ #FakeNews ट्रेंड कर रहे हैं। दरअसल, 19 नवंबर को पीटीआई के हवाले से कई टीवी न्यूज चैनलों के स्टूडियो में बैठकर एंकर चीख-चीखकर कहने लगे कि भारत ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर यानी PoK में ‘एयर स्ट्राइक’ कर दी है. एक नहीं, दो नहीं…भारत के तमाम टीवी न्यूज चैनल यु#द्ध का ये ‘नगाड़ा’ पीट रहे थे।

PoK में ‘एयर स्ट्राइक’ की खबर को लेकर तो एक न्यूज चैनल जल्दी से ब्रेक लेकर ‘गेस्ट’ तक बैठाने लगा, चारों तरफ से गोदी के लालो का एक साथ झूठ बोलने शुरू हो गए थे इस भांड मीडिया ने भारत की बहादुर सेना का जितना अपमान किया है शायद उतना अपमान पाकिस्तान ने भी नही किया होगा।

congress lidar

मीडिया में चल रही पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर यानी PoK में भारत की और से हम’ले की खबरों पर भारत की सेना को स्पष्टीकरण देना पड़, मीडिया में चल रही तमाम खबरों को भारतीय सेना ने फर्जी करार दिया है। इस खबर में दावा किया जा रहा है की भारतीय सेना ने पीओके में आ’तंकि#यों को निशाना बनाते हुए सटीक हम’ले किए।

भारतीय सेना को एक बयान जारी बताया की लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर कोई गो’ली बारी नहीं हुई है, वही थोड़ी देर बाद ही सेना ने फिर कहा कि LoC पार कर PoK में सेना की स्ट्राइक की रिपोर्ट्स अफवाह हैं। ऐसी कोई कार्रवाई सेना ने नहीं की है।

दरअसल सोशल मीडिया पर एक एबीपी का वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे एबीपी न्यूज़ की एंकर रुबिका लियाकत कहे रही है की पीओके के इलाके में आ#तंकि’यों के जितने भी लॉ’न्चिं’ग पै’ड्स थे। उन पर भारत सेना ने स्ट्राइक कर दी है।

भारतीय सेना द्वारा स्ट्राइक्स में एक एक करके उन तमाम इलाकों को टारगेट किया जा रहा है। एंटी टैंक मि’साइ’ल और आर्टिल’री का इस्तेमाल करके हम कार्रवाई कर रहे हैं। हिन्द की फ़ौज अब एक एक करके बदला ले रही है।

हलाकि भारतीय सेना ने भांड मीडिया द्वारा चलाई गई फर्जी खबरों का खंडन किया है। इंडियन आर्मी के मिलिट्री ऑपरेशंस के डायरेक्टर जनरल लेफ्टिनेंट जनरल परमजीत सिंह ने कहा कि एलओसी के पार पीओके में भारतीय सेना की कार्रवाई की खबर फर्जी हैं। सेना ऐसी कोई कार्रवाई नहीं की है।

भारतीय सेना की स्पष्टीकरण देना के बाद कांग्रेस नेता श्रीनिवास बी वी ने रुबिका लियाकत की फर्जी रिपोर्टिंग की वीडियो शेयर कर लिखा है कि ये अंधभक्ति वाली पत्रकारिता नही तो क्या ? जपनाम-जपनाम

कांग्रेस नेता श्रीनिवास बी वी ने एक और अन्य ट्वीट कर लिखा, कि शुक्र है वक्त रहते भारतीय सेना ने, BJP-MEDIA की ‘सर्जिकल न्यूज’ को फेक न्यूज साबित कर दिया..! नही तो मोदी भक्तों का जपनाम मंत्र तैयार था।