यूपी: सपा की सरकार बनी तो हटा देंगे EVM सदा के लिए, अखिलेश यादव का बड़ा बयान

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की जनता के लिए समाजवादी पार्टी के प्रमुख और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज उत्तर प्रदेश की जनता के लिए एक बड़ा बयान दिया है. सपा प्रमुख ने कहा है कि अगर हमारी सरकार वापसी करती है और उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी को बहुमत मिलता है तो हम ईवीएम मशीन को चुनाव सिस्टम से हटा देंगे.

अखिलेश यादव ने कहा कि ये EVM मशीन (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) पर किसी भी तरह से भरोसा नहीं किया जा सकता, इसलिए हम समाजवादी पार्टी की सरकार बनते ही सबसे पहला काम इस इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को हटाने के लिए ही करेंगे.

अखिलेश यादव बोले अगर समाजवादी पार्टी की सरकार बनी तो बैन कर देंगे EVM मशीन

UP Me Sarkar Bante hi EVM MAchine Ban Hogi Akhilesh yadav

अखिलेश यादव से जब एक मीडिया कर्मी ने ईवीएम मशीन के बारे में सवाल पूछा, तो उन्होंने जवाब दिया कि मैंने पहले भी कहा है, और मैं आज भी यही कह रहा हूं. हमारे देश का मतदाता, कोई भी ईवीएम मशीन पर भरोसा नहीं करता. और हाल ही में अमेरिका जैसे बड़े देश में भी मतपत्रों के जरिए वोटिंग हुई है.

हमारे यहाँ आज भी लोग केवल मतपत्र पर ही भरोसा करते हैं, लेकिन सत्ता में रहते ही इसको लागू किया जा सकता है. उत्तर प्रदेश की जनता इस इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को बैन करने की मांग भी काफी समय से कर  इ.

इसलिए हम अपने प्रदेश की जनता को यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि, अगर हमारी सरकार ने वापिसी की और हम सत्ता में लौटते हैं तो हम सबसे पहले इस ईवीएम मशीन को जरूर हटाएंगे.

अखिलेश यादव ने इस दौरान यह भी कहा कि, बिहार में महागठबंधन की सरकार एक तरह से बन ही चुकी थी, लेकिन देखो वहां क्या हुआ भाजपा ने किस तरह से अपनी मनमानी की और वहां की स’त्ता हासिल कर ली.

हालांकि हम ऐसी स्थिति कभी भी उत्तर प्रदेश में नहीं होने देंगे, क्योंकि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी इतने ज्यादा वोटों के अंदर से हारेगी जिसके बारे में आप सोच भी नहीं सकते.

अखिलेश यादव कहते हैं कि, आगामी चुनाव में उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार बनने जा रही है, और यहाँ समाजवादी पार्टी 350 से भी ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज करेगी.

दिल्ली (नोएडा) के रहने वाले ज़ुबैर शैख़, पिछले 10 वर्षों से भारतीय राजनीती पर स्वतंत्र पत्रकार और लेखक के तौर पर कई न्यूज़ पोर्टल और दैनिक अख़बारों के लिए कार्य करते हैं।