सऊदी अरामको Apple को पीछे छोड़, बनी दुनिया की सबसे अमीर लिस्टेड कंपनी

सऊदी अरब की बड़ी तेल कंपनी ‘सऊदी आरामको’ (Saudi Aramco) अब दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी बन गई है. फिलहाल अब तक आईफोन बनाने वाली, एप्पल कंपनी के सर पर यह ताज था. लेकिन अब सऊदी अरामको बिजनेस के वैल्यूएशन में, नंबर वन की पोजीशन हासिल कर चुकी है. और यह दुनिया की टॉप फाइव लिस्टेड कंपनियों में सबसे ऊपर पहुँच गयी है.

आपको बता दें कि ‘सऊदी अरामको’, सऊदी अरब सरकार की ही तेल कंपनी है. हालांकि इस कंपनी की जड़ें पहले से ही काफी मजबूत हैं, अब तक यह कंपनी शेयर मार्केट में लिस्टेड नहीं थी. यानी कि इसका पब्लिक आईपीओ अभी तक लॉन्च नहीं किया था.

Duniya Ki Top 5 Company ke naam

सऊदी अरामको तेल कंपनी भारत की जीडीपी के 60% जितना बराबर है

अब दुनिया भर में कोई भी आम आदमी, इस कंपनी की हिस्सेदारी खरीद सकता है. सऊदी सरकार ने तेल की कमाई से अपने खजाने की निर्भरता को कम करने के लिए, इसका पब्लिक आईपीएल लॉन्च किया है. इससे सऊदी सरकार को अपनी आर्थिक मजबूती के लिए केवल तेल पर ही निर्भर नहीं रहना पड़ेगा.

सऊदी अरामको दुनिया की पहली सबसे बड़ी पब्लिक कंपनी बन चुकी है. इसका मार्किट कैपिटल 1.88 ट्रलियन डॉलर है, जो लगभग 133.48 लाख करोड़ रुपए होता है. इसके बाद दुसरे नंबर पर आईफोन बनाने वाली एप्पल कंपनी है. इसका मार्किट केपिटल 1.19 ट्रलियन डॉलर है. इसकी वैल्यू 84.49 लाख करोड़ रुपए के आसपास है.

Sadi Ki Tel Compani World ME Number one

अब बात करते हैं दुनिया की तीसरे नंबर की सबसे बड़ी कंपनी की जिसका नाम है माइक्रोसॉफ्ट. दोस्तों माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का मार्किट कैपिटल 1.15 ट्रलियन डॉलर है, जो 81.65 लाख करोड़ रुपए जितना है. चौथे नंबर पर है ‘अल्फाबेट’ कंपनी, इसका मार्किट कैपिटल 926 बिलियन डॉलर है, जो 65.76 लाख करोड़ रुपए के लगभग है.

अब बारी आती है दुनिया की सबसे जानी मानी कंपनी अमेज़न की, लेकिन बदकिस्मती से ये टॉप फाइव की कंपनियों में सबसे निचले पायदान, नंबर पांच पर है. एमेज़ोन कंपनी का मार्किट कैपिटल 826 बिलियन डॉलर है, जो 61.20 लाख करोड़ रुपए के लगभग है.

सऊदी अरामको ने जैसे ही अपना आईपीओ को लांच किया, निवेशक इस कंपनी में अपने शेयर खरीदने के लिए टूट पड़े. बिजनेस वेबसाइटों के मुताबिक, सऊदी अरामको का #शेयर पहले ही दिन में चढ़कर 10% की छलांग लगा चुका था. इसके बाद दूसरे दिन भी इसको अच्छी बढ़त मिली.

World me Number one Company

फिलहाल एक बार फिर, सऊदी अरब का दुनियाभर में नाम रोशन हुआ है. निवेशकों का मानना है यह कंपनी उनको अच्छा मुनाफा दे सकती है. इसलिए उन्होंने आरामको के आईपीओ में सबसे ज्यादा पैसा लगाया. सऊदी अरामको का आईपीओ दुनिया का सबसे बड़ा पब्लिक आई पी ओ बना.

इससे पहले चीन की ई कॉमर्स कंपनी, अलीबाबा ने इस तरह का बढ़ा आईपीओ लाँच किया था, जिसमे उन्होंने सफल रूप से पैसे जुटाने में कामयाबी हासिल की थी. उन्होंने अलीबाबा कंपनी को 2014 में लिस्टेड किया था, जिसके ज़रिये अमेरिकी बाज़ार से उन्होंने तकरीबन 2500 करोड़ डॉलर रुपए बटोरे थे.

एक्सपर्ट की राय माने तो यह मुनाफा देने में कंपनी, एप्पल से दुगनी बड़ी है. क्योंकि इसको पिछले साल 11,000 करोड़ डॉलर का प्रॉफिट हुआ था. यह एप्पल के सालाना मुनाफे से सीधा-सीधा दोगुना हो रहा है. बीते वित्त वर्ष में एप्पल को तकरीबन 5,000 करोड का मुनाफा हुआ था.