CAA-NRC के खिलाफ फिर धरना शुरू होने की खबर से प्रशासन के छूटे पसीने, शाहीन बाग व जामिया समेत कई इलाकों में…

देशभर में फैली कोरोनावायरस के चलते लागू लॉक डाउन के बीच शाहीन बाग में नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने की पुनः तैयारी करने की खबरें सामने आई है. बताया जा रहा है कि  देशभर में छाए कोरोना महामारी के संकट के बीच नागरिकता कानून को लेकर एक बार फिर से विरोध प्रदर्शन होने की खबरें सामने आई है. शाहीन बाग में महिलाओं द्वारा दोबारा धरना देने की तैयारी करने की खबरें मिलने के बाद शासन प्रशासन में हड़कंप मच गया है.

पुलिस प्रशासन चौकन्ना हो गया है. इस संदर्भ में सूचना पाते ही पुलिस बल भारी तादात में पुराने धरनास्थल पर पहुंच गया है. बताया जा रहा है कि पुलिस को इस तरह की सूचनाएं मिली हैं कि शाहीन बाघ ने दोबारा गुपचुप तरीके से धरना शुरू करने की तैयारियां चल रही है.

इसके बाद पुलिस ने आनन-फानन में 100 पुलिसकर्मियों को शाहीन बाग में तैनात कर मोर्चा संभाल लिया है. प्राप्त हो रही जानकारियों के अनुसार कुछ महिलाएं शाहीन बाग धरना स्थल पर एकत्रित भी हो चुकी थी जिन्हें पुलिस ने समझा-बुझाकर वापस अपने घरों को भेज दिया है.

इस दौरान मौके पर ज्वाइंट सीपी देवेंद्र श्रीवास्तव भी मौजूद रहे. पुलिस प्रशासन ने किसी भी तरह की असुविधा से बचने के लिए ना सिर्फ शाहिनबाग बल्कि जामिया और उसके आसपास के क्षेत्रों में भी बाहरी सुरक्षा बल तैनात कर दिया है.

वहीं मीडिया रिपोर्ट की मानें तो पुलिस ने अपने खुफिया विभाग को भी अलर्ट जारी कर दिया गया है. सूत्रों से मिली जानकारियों के मुताबिक पिछले कुछ दिनों से सीमित संख्या में लोग शाहीन बाग में इकट्ठा हो रहे थे और यहां पर कुछ लोगों द्वारा बैठक भी की जा रही थी लेकिन यह लोग धरने पर नहीं बैठ रहे थे.

वहीं शाहीन बाग में बैठक कि खबरें मिलते ही पुलिस प्रशासन सक्रिय हो गया और शाहीन बाग को छावनी में परिवर्तित कर दिया. आपको बता दें कि इस समय देश भर में कोरोनावायरस फैलने के कारण लॉक डाउन और कर्फ्यू लगा हुआ है.

कर्फ्यू के बीच धरना प्रदर्शन काफी परेशानी उत्पन्न कर सकता है इससे संक्र’मण फैलने का खतरा भी बढ़ जाएगा. हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि शाहीन बाग में धरने की तैयारी की जा रही थी या नहीं. बता दें कि देश में अब तक कोरोना पॉजिटिव संख्या दो लाख से भी ज्यादा हो चुकी हैं.