VIDEO: AAP के आरोपों पर भड़के शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी, कहा- अब फिर शुरू होगा सीएए का विरोध अगर लड़ाई….

शाहीन बाग में सीसीए के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले कई प्रदर्शनकारीयों ने रविवार को बीजेपी पार्टी ज्वाइन कर ली. जिसके बाद आम आदमी पार्टी (आप) के मुख्य प्रवक्ता और विधायक सौरभ भारद्वाज ने सोमवार 17 अगस्त को दावा करते हुए कहा कि शाहीन बाग प्रदर्शन की पूरी पटकथा बीजेपी द्वारा लिखी गई और दिल्ली चुनावों में फायदा उठाने के लिए बीजेपी आलाकमान ने प्रदर्शनकारियों के हर कदम के लिए उन्हें निर्देश दिए.

अब आप के इन दावों पर शाहीन बाग के स्थानीय निवासियों और प्रदर्शन में भाग लेने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओं ने तीखी प्रतिक्रिया जताई हैं. शाहीन बाग विरोध प्रदर्शन के दौरान प्रमुख चेहरों में से एक रही शाहीन कौसर ने कहा कि प्रदर्शन में भाग लेने वाले अधिकतर महिलाएं गृहणी थी और उनका राजनीति से कोई भी लेना देना नहीं था.

उन्होंने आगे कहा कि वो यहां आई क्योंकि वो पीड़ित थी, कॉलेज कैंपस में अपने बच्चों को पी’टे जा’ने से वो असुरक्षित फील कर रही थी, वो अपनी आने वाली पीढ़ी के शाहीन बाग आई. एक मां को कैसा महसूस होता हैं इससे बीजेपी को क्या करना है? दिल पे ज’ख्म लगा है.

प्रस्तावित एनआरसी और नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ शाहीन बाग का प्रदर्शन किया गया था. इसी बीच जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी कैंपस में हुई पुलिस की कार्रवाई के बाद हिं#सा भ’ड़’क गई थी.

वहीं शाहीन बाग इलाके के मशहूर वकील बहादुर अब्बास नकवी ने कहा कि आप पार्टी दिल्ली में हुए दं#गों के दौरान चु’प्पी साधे हुई थी. आप सरकार कहती है कि दिल्ली पुलिस उनके अधीन नहीं हैं लेकिन पार्टी के जिन नेताओं के पास पुलिस सुरक्षा थी, कम से कम वो तो लोगों को शांत कराने के लिए आ सकते थे लेकिन उन्होंने तो इलाके का दौरा तक नहीं किया?

अब्बास ने कहा कि वरिष्ठ वकील महमूद प्राचा द्वारा शुरू किये गए संविधान बचाओ मिशन के तहत शाहीन बाग सहित सभी जगहों पर एक बार फिर से वि’रोध प्रदर्शन शुरू होगा. इसके साथ ही प्रदर्शनकारियों ने आप पार्टी के आरोपों को सिरे से ख़ारिज कर दिया हैं. उन्होंने कहा कि इस आंदोलन से को बीजेपी का समर्थन होने वाला दावा हं’स’ने योग्य हैं, बीजेपी का संविधान से कोई संबंध ही नहीं है.

साभार- जनसत्ता