अगर नरेंद्र मोदी 2019 का चुनाव जीत गए तो मुझे गोली मरवा देंगे, बिहार के दिग्गज नेता

देश भर में चुनाव का माहौल है, पहले चरण का मतदान हो चूका है और जल्द ही दुसरे चरण का मतदान होने वाला है. फ़िलहाल सभी पार्टियां प्रचार-प्रसार करने में लगी हुई है. रैली और सभाओं को संबोधित करते हुए राजनेता लगातार विवादित बयान दिये जा रहे है. मीडिया में सुर्खिया बटोरने और चर्चा में बने रहने के लिए नेता किसी भी हद तक जाकर बयान देते हुए नजर आ रहे है.

लोकसभा चुनावों के बीच लोकतांत्रिक जनता दल (लोजद) के नेता शरद यादव ने एक सनसनीखेज बयान दिया है. शरद यादव ने दावा किया है कि उनकी जा’न को खतरा है. शरद यादव ने दावा करते हुए कहा कि अगर नरेंद्र मोदी दुबारा चुनाव जीतते है तो वो मुझे जेल भेज देंगे या फिर गोली मर’वा कर ह’त्या कर देंगे.

शरद यादव के इस बयान ने रजनीतिक तूफान खड़ा कर दिया है. यादव के इस बयान ने हंगामा खड़ा कर दिया है. आपको बता दें कि शरद यादव इससे पहले जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के अध्यक्ष भी रह चुके हैं लेकिन बाद में नितीश कुमार से कुछ मतभेदों के चलते उन्होंने पार्टी छोड़ दी और अब महागठबंधन का हिस्सा बन गए.

इस लोकसभा चुनाव में शरद यादव मधेपुरा से राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के चिन्ह पर चुनाव लड़ रहे हैं. आपको बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब शरद यादव ने कोई विवादित बयान दिया है. पिछले साल दिसंबर में उन्होंने राजस्थान की तत्कालीन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर भी टिप्पणी की थी.

राजस्थान चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने बहुत ही फूहड़ तंज कसते हुए कहा था कि वसुंधरा को आराम दो, बहुत थक गई हैं, बहुत मोटी हो गई हैं, पहले पतली थीं. हमारे मध्य प्रदेश की बेटी हैं. बता दें कि इससे पहले साल 2014 में शरद यादव मधेपुरा से ही चुनाव लड़े थे.

वह मधेपुरा से बतौर जेडीयू उम्मीदवार मैदान में उतरे थे लेकिन मोदी लहर के सामने वह टिक नहीं सके थे. उस दौरान शरद जेडीयू अध्यक्ष भी हुआ करते थे लेकिन बाद में नीतीश कुमार जेडीयू अध्यक्ष बने. बाद में जेडीयू ने शरद को राज्यसभा भेज दिया.

साल 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में महागठबंधन को बहुमत मिला लेकिन 2017 में जेडीयू ने महागठबंधन से अलग होकर बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बना ली. इसे जनादेश का अपमान करार देते हुए शरद यादव ने जेडीयू से अलग हो गए और अपनी नई पार्टी लोजद बना ली.