वैक्सीन के असर पर सवाल: सीरम इंस्टीट्यूट को 10 लाख डोज वापस करेगा साउथ अफ्रीका, रिपोर्ट में कहा- हम अपने हेल्थ वर्कर्स को…

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया दुनिया में एक प्रमुख वैक्सीन सप्लायर के तौर पर उभरा है, हाल ही में साउथ अफ्रीका को वैक्सीन की दस लाख डोज भेजी थी इतना ही नहीं पांच लाख वैक्सीन की डोज की अगली खेप कुछ हफ्तों में वहां पहुंचने वाली थी.

कोरोना महा’मा’री की आखिरी लड़ाई यानी वैक्सीनेशन की शुरुआत दुनियाभर के तमाम देशों में हो चुकी है. मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग जैसे कड़े नियमों से गुजरने के बाद अब हर कोई यह इंतजार कर रहा है कि उन्हें कब जल्द से जल्द कोरोना की वैक्सीन मिलेगी जिससे कि इस म’हामा’री के दौर से बाहर आया जा सके।

कोरोना वायरस की वैक्सीन की लड़ाई में भारत भी किसी से पीछे नहीं है आपको बता दें पुणे स्थित सिरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने ऑक्सफोर्ड की एक्स्ट्राजैनिका तथा स्वदेशी वैक्सीन कोविशिल्ड का निर्माण किया है। सिरम इंस्टीट्यूट ऑफ पुणे द्वारा निर्मित कोविशिल्ड वैक्सीन को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने आ’पात स्थिति में इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है।

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया की तरफ से भेजी गई थी 10 लाख डोज

सिरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया दुनिया भर में एक मुख्य वैक्सीन सप्लायर के रूप में उभरा है। इसके द्वारा निर्मित वैक्सीन न सिर्फ भारत के पड़ोसी देशों तक जाएगी बल्कि अन्य कई देशों में भी इसकी सप्लाई की जाएगी।

वही भारत के प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना की वैक्सीन सप्लाई को वैक्सीनमैत्री नाम दिया है। और उसी दिशा में भारत सरकार ने भूटान, मालदीव, नेपाल, म्यांमार में कोरोना वैक्सीन की पहली खेप रवाना भी कर दी है। लेकिन हाल ही में साउथ अफ्रीका से एक चौंकाने वाली खबर आई है जो कि भारत द्वारा भेजी गई वैक्सीन को लौटाना चाहता है।

भारत से भेजी गई 10 लाख डोज लौटाना चाहता है साउथ अफ्रीका

इन दिनों दुनियाभर के देश कोरोना म’हामा’री से लड़ते हुए अपने यहां टीकाकरण की शुरुआत कर रहे हैं जिसमें वे स्टडी के अनुसार अपने देश में वैक्सीन को मंजूरी दे रहे इसी दिशा में सिरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने कोरोना वैक्सीन की 10 लाख डोज साउथ अफ्रीका भेजी थी लेकिन अब साउथ अफ्रीका इनको लौटाना चाहता है।

इकोनामिक टाइम्स की एक खबर के मुताबिक साउथ अफ्रीका ने यह कहा कि वह अपने देश में टीकाकरण अभियान में एस्ट्राजेनेका वैक्सीन का उपयोग नहीं करेगा। ऐसे में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने ऑक्सफोर्ड की एस्ट्रेजेनेका वैक्सीन की 10 लाख डोज साउथ अफ्रीका भेजी थी और 5 लाख डोज कुछ हफ्तों में साउथ अफ्रीका पहुंचने वाली थी।

लेकिन अब साउथ अफ्रीका ने सिरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया द्वारा भेजी गई वैक्सीन को वापस लौटाने का फैसला किया। साउथ अफ्रीका ने फैसला किया है कि वह अब अपने यहां हेल्थ वर्कर्स को जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन देगा।

पुणे (महाराष्ट्र) की रहने वाली 'बुशरा त्यागी' पिछले 5 वर्षों से एक Freelancer न्यूज़ लेखक (Writer) के तौर पर कार्य कर रही हैं। 16 साल की उम्र से ही इन्होंने शायरी, कहानियाँ, कविताएँ और आर्टिकल लिखना शुरू कर दिया था।