हाथरस कांड: योगी सरकार में मंत्री अजीत सिंह पाल का बेहद शर्मनाक बयान, देखिए वीडियो

हाथरस कांड: योगी सरकार में मंत्री अजीत सिंह पाल का बेहद शर्मनाक बयान, देखिए वीडियो

उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए घट’ना ने पुरे देश को झकझोर कर रख दिया है, देश भर में इस मामले को लेकर गु’स्सा देखने को मिल रहा है. वहीं इस मामले को लेकर सियासत लगातार जारी है. इस मामले पर राजनेताओं का बयान देने का सिलसिला भी जारी है, इसी कड़ी में यूपी सरकार के मंत्री अजीत सिंह पाल ने हाथरस मामले को लेकर विवा’दित बयान दे दिया है जिससे एक और विवा’द उपज गया हैं.

योगी आदित्यनाथ के मंत्री ने हाथरस की घट’ना को मामूली करार दिया है. योगी सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री अजीत सिंह पाल ने हाथरस में 19 वर्षीय युवती के साथ हुए कथित सामूहिक दु’ष्क’र्म और उनकी मौ’त की घटना को छोटा-सा मुद्दा करार देते हुए शुक्रवार को दावा किया कि दलित युवति के साथ कोई दु’ष्क’र्म नहीं हुआ है.

राज्यमंत्री ने अपने एक बयान में कहा कि डॉक्टरों ने साफ तौर पर कह दिया है कि हाथरस मामले में युवति के साथ किसी तरह का कोई दु’ष्क’र्म नहीं हुआ हैं. अजीत सिंह के इस बयान के बाद अब विवाद और गहराता जा रहा है.

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार योगी सरकार में मंत्री अजीत सिंह पाल ने इस मामले को लेकर विपक्ष के हम’लों पर जवाब देते हुए संवाददाताओं से कहा कि अगर विपक्षी पार्टियां सरकार पर हम’ला कर रही है तो हम कुछ नहीं कर सकते हैं, उनके पास कोई और मुद्दा नहीं हैं और वे बीच-बीच में ऐसे ही छोटे मुद्दे उठाते रहते है.

उन्होंने आगे कहा कि वो सिर्फ मुद्दे उठा रहे हैं और जनहित में कुछ भी नहीं कर रहे है. वहीं जब मीडिया ने सवाल किया क्या हाथरस की घट’ना छोटी हैं तो इस पर पाल ने कहा कि मैं कह रहा हूं कि इस मामले में जांच चल रही है, डॉक्टरों ने कहा हैं इस तरह का कुछ भी युवति के साथ नहीं हुआ है.

उन्होंने आगे कहा कि जांच में जो भी सामने आएगा सार्वजनिक किया जाएगा. आपको बता दें कि गुरुवार को यूपी के एडिशनल डायरेक्टर जनरल (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने एक बयान जारी करते हुए कहा था युवती की फोरेंसिक रिपोर्ट में दुष्क’र्म के कोई संकेत नहीं मिले थे.

कुमार ने कहा कि एफएसएल की रिपोर्ट भी आ चुकी है, जो यह साफ करती है कि नमूनों में शुक्राणु नहीं थे. ऐसे में साफ तौर से कहा जा सकता हैं कि इस मामले में युवती के साथ कोई भी दु’ष्क’र्म या सामूहिक दु’ष्क’र्म नहीं हुआ था.

साभार- जनता का रिपोर्टर