हैदराबाद को भाग्यनगर में बदलने के योगी के बयान पर अखाड़ा परिषद ने दिया बड़ा बयान

हैदराबाद शहर का नाम बदलने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान का अखाड़ा परिषद ने किया समर्थन

एक के बाद एक लगातार शहरों के नाम बदलने को लेकर अक्सर चर्चाओं में रहने वाले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का एक और बयान अब चर्चा का विषय बना हुआ है। हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नगरपालिका चुनावों के प्रचार के दौरान हैदराबाद में एक रोड शो कर रहे थे।

रोड शो के दौरान योगी आदित्यनाथ एक बस पर खड़े थे और रोड पर भारी संख्या में लोग मौजूद थे ऐसे में उन्होंने हैदराबाद का नाम बदलने को लेकर एक बयान दे डाला। उन्होंने कहा कि अगर चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) जीतती है तो हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्यनगर कर दिया जाएगा।

Screenshot 20201201 102918  01 800x500 1

उन्होंने आगे कहा कि कई लोग मुझसे पूछ रहे थे कि क्या हैदराबाद का भी नाम बदलकर भाग्यनगर किया जा सकता है। तो उन लोगों से मैंने कहा कि क्यों नहीं हम ने सत्ता में आने के बाद फैजाबाद को अयोध्या कर दिया इलाहाबाद को प्रयागराज कर दिया तो सत्ता में आने के बाद हैदराबाद को भी भाग्यनगर क्यों नहीं किया जा सकता।

आपको बता दें कि इस चुनाव में भारतीय जनता पार्टी अपनी पूरी तैयारी के साथ मैदान में उतर चुकी है पार्टी के बड़े-बड़े नेता यहां तक की गृह मंत्री अमित शाह भी हैदराबाद की सड़कों पर उतर आए हैं।

गौरतलब है की, अखाड़ा परिषद ने योगी आदित्यनाथ के इस बयान का समर्थन दिया है। सूत्रों के मुताबिक अखाड़ा परिषद के महंत नरेंद्र गिरी ने योगी आदित्यनाथ के बयान को समर्थन देते हुए कहा कि ‘अब हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्यनगर हो जाना चाहिए।

महंत नरेंद्र गिरि आगे कहते हैं कि ‘मुसलमानों ने देश पर कई वर्षों तक शासन किया है। ऐसे में उन्होंने देश के शहरों के नामों का इस्लामीकरण कर दिया जिन्हें अब बदल जाना चाहिए’।

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हैदराबाद को भाग्यनगर में बदल दिए जाने के बयान के बाद सांसद और एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी की पूरी पीढ़ी खत्म हो जाएगी लेकिन हैदराबाद का नाम नहीं बदल पाएंगे।