मशहूर कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर पर महिला से छे’ड़छा’ड़ का आरोप, मुकदमा दर्ज होते ही मची ख’लबली

वृन्दावन के मशहूर भागवत कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर और उनके भाई समेत करीब आधा दर्जन लोगों के खिलाफ सं’गी’न धा’राओं में मामला दर्ज हुआ है। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। वही पुलिस ने घ’टना स्थल की सीसीटीवी फुटेज भी मंगवाई हैं। दरअसल सोमवार को भागवताचार्य के खि’लाफ मुकदमा दर्ज होते ही ख’लब’ली मच गई है।

रिपोर्ट के अनुसार थाना हाईवे क्षेत्र कॉलोनी में रहने वाले अनुसूचित जाति की एक महिला के परिवार को बीती 24 फरवरी को घर में घु’सकर मा’रा पी’टा गया। गा’ली गलौ’ज और जा’न से मा’रने की ध’मकी देकर घर में घु’सकर महिला से छे’ड़खानी भी की गई। पीड़ित की सूचना पर हाईवे पुलिस के पहुंचने से पहले आरोपी भाग गए।

वही पी’ड़ित का आरोप है कि आरोपियों ने उसकी पत्नी के साथ छे’ड़छा’ड़ करने के साथ ही दोनों के साथ मा’रपी’ट भी की और किसी तरह की कानूनी कार्रवाई करने पर जा’न से मा’रने की ध’मकी भी दी। अब मामला दर्ज होने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

इस मामले की विवेचना कर रहे हैं। सीओ वरुण कुमार ने बताया कि वारदात स्थल के सीसीटीवी फुटेज मंगवाए गए हैं। सोमवार को पी’ड़ित की पत्नी के बयान लिए जाएंगे। विवेचना के सारे सुबूत एकत्रित होने पर आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी।

आपको बता दें देवकीनंदन ठाकुर हिंदू पुराण कथावाचक, गायक हैं। 1997 से देवकीनंदन श्रीमद भागवत कथा, श्री राम कथा, देवी भागवत, शिव कथा, भगवत गीता इत्यादि पर प्रवचन दे रहे हैं। 2015 में इन्हें यूपी रतन पुरस्कार से सम्मानित भी किया जा चुका है।

इंटरनेट पर मिली जानकारी के अनुसार देवकीनंदन ठाकुर का जन्म 12 सितम्बर 1978 को उत्तर प्रदेश के मथुरा के ओहावा गाँव में हुआ था। कहा जाता है कि मात्र 6 साल की उम्र में वह घर छोड़कर वृंदावन पहुंच गये और ब्रज के रासलीला संस्थान में हिस्सा लिया।

बता दें 13 साल की उम्र में उन्होंने श्रीमद्भागवतपुराण कंठस्थ कर लिया था। 18 साल की उम्र में दिल्ली के श्रीराममंदिर में श्रीमदभागवत महापुराण के उपदेश लोगों को दिए। ये अभी तक हांगकांग, सिंगापुर, थाईलैंड, मलेशिया, डेनमार्क, स्वीडन, नॉर्वे और हॉलैंड जैसी जगहों में अपने कथाएं सुना चुके हैं।

Leave a Comment