स्टेडियम का नाम बदलने पर अपनी ही सरकार पर बरसे सुब्रमण्यन स्वामी, गुजरात सरकार को दी यह सलाह

स्टेडियम के नाम पर आप'त्ति: अहमदाबाद में 'नरेंद्र मोदी स्टेडियम' के नाम को लेकर सुब्रमण्यम स्वामी की सलाह, गुजरात सरकार को नाम बदलकर अपनी गलती सुधारना चाहिए.

कई बार खबरें अच्छी होती हैं तो कई बार खूब वि’वादा’स्पद, ऐसी ही एक खबर कई दिनों से जमकर वायरल हो रही है जो कि गुजरात के अहमदाबाद स्थित दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम को लेकर है। लेकिन वि’वाद की ज’ड़ को थोड़ा साइड में रख पहले हम दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम के बारे में थोड़ा जान लेते हैं।

हाल ही में भारत में दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम बनकर तैयार हुआ है। जिसका उद्घाटन माननीय राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने बीते बुधवार को किया था। बता दें यह स्टेडियम अहमदाबाद में स्थित है और सरदार पटेल एनक्लेव का हिस्सा है। यह स्टेडियम अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी से लैस है जिसमें 1.32 लोगों के बैठने की व्यवस्था है।

(BJP) के वरिष्ठ नेता ने सलाह दी है.

लेकिन फ़िलहाल स्टेडियम के नाम बदलने को लेकर वि’वाद खड़ा हो गया है। पहले इस स्टेडियम को मोटेरा स्टेडियम के नाम से जाना जाता था लेकिन उद्घाटन के ही दिन इस स्टेडियम का नाम बदलकर नरेंद्र मोदी स्टेडियम कर दिया गया है।

जब दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदलकर नरेंद्र मोदी स्टेडियम रखा गया तभी से नाम बदलने को लेकर तरह तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। कुछ लोगों ने कहा कि यह सरदार पटेल का अपमान है। लेकिन अब भारतीय जनता पार्टी के नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने स्टेडियम का नाम नरेंद्र मोदी स्टेडियम किए जाने पर सवाल उठाए हैं।

नरेंद्र मोदी नाम वापस ले लेना चाहिए- सुब्रमण्यम

सुब्रमण्यम स्वामी अक्सर अपने बयानों के लिए जाने जाते हैं। वे अक्सर अपनी ही पार्टी के खिलाफ ती’खी आलोचना करते हैं और ऐसा ही उन्होंने क्रिकेट स्टेडियम के नाम बदलने को लेकर किया है। सुब्रमण्यम स्वामी ने मोटेरा स्टेडियम का नाम नरेंद्र मोदी स्टेडियम किए जाने पर सवाल उठाए हैं।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि गुजरात के दामाद होने के नाते कई लोगों ने मुझे स्टेडियम से सरदार पटेल का नाम हटाने के बारे में बताया। ऐसे में मेरा सुझाव यह है कि गुजरात सरकार को स्टेडियम का नरेंद्र मोदी नाम वापस ले लेना चाहिए। और उन्हें ऐसा करते वक्त कहना चाहिए कि नाम बदलते वक़्त मोदी से सलाह नहीं ली गई थी इसलिए इसे वापस लिया जा रहा है।

इससे पहले भी सुब्रमण्यम स्वामी स्टेडियम को लेकर बयान दे चुके हैं उन्होंने इससे पहले ट्वीट करते हुए लिखा था कि जब कोई कहता है कि मोदी स्टेडियम का पुराना नाम मोटेरा स्टेडियम था तो वह झूठ बोलता है क्या स्टेडियम का नाम सरदार पटेल स्टेडियम नहीं था।

पुणे (महाराष्ट्र) की रहने वाली 'बुशरा त्यागी' पिछले 5 वर्षों से एक Freelancer न्यूज़ लेखक (Writer) के तौर पर कार्य कर रही हैं। 16 साल की उम्र से ही इन्होंने शायरी, कहानियाँ, कविताएँ और आर्टिकल लिखना शुरू कर दिया था।