पुलिस संरक्षण में शाहीन बाग पहुंची गोदी मीडिया तो कुनाल कामरा ने किया ट्वीट कहा- यहां पे आपको कुत्ता…

नागरिका संशोधन कानून (CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (NRC) के खिलाफ देशभर के कई राज्यों लगातार विरोध प्रदर्शन जारी है। वही देशभर में प्रदर्शनों की पहचान बन चुके शाहीन बाग में भी लगातार प्रदर्शन जारी है। जहाँ आए कई खबरें सामने आ रही हैं। यहां तक कि मीडिया को भी प्रदर्शनकारी अलग अलग रूप से देख रहे है।

हाल ही में शुक्रवार को शाहीन बाग में चल रहे विरोध प्रदर्शन की कवरेज करने गए वरिष्ठ पत्रकार और न्यूज नेशन के कंसल्टिंग एडिटर दीपक चौरसिया के साथ बदसलूकी की खबर सामने आई थी। यही नहीं प्रदर्शनकारीयो ने न्यूज नेशन के कैमरामैन का कैमरा भी तोड़ दिया। जिन्हे उल्टे पाव वहां से भागना पड़ा।

शाहीन बाग पहुंचे पत्रकार सुधीर चौधरी और दीपक चौरसिया

पुलिस अधिकारियों के साथ प्रदर्शन स्थल पहुंचे सुधीर चौधरी और दीपक चौरसिया

आपको बता दें दीपक चौरसिया के साथ बदसलूकी और कैमरे छीनने के मामले में कुछ अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस का कहना है कि आईपीसी की धारा 394 लूट के दौरान चोट पहुंचाने के तहत FIR दर्ज की गई है। फिलहाल मामले की जांच चल रही है।

लेकिन इसी बीच सोमवार को एक बार फिर पुलिस संरक्षण में शाहीन बाग पहुंचे जी न्यूज के एडिटर-इन-चीफ सुधीर चौधरी और न्यूज नेशन के कंसल्टिंग एडिटर दीपक चौरसिया को शाहीन बाग में धरना दे रही महिलाओ का सामना करना पड़ा।

दरअसल, सोमवार दोपहर तीन बजे के करीब वरिष्ठ पत्रकार दीपक चौरसिया और सुधीर चौधरी कुछ पुलिस अधिकारियों के साथ प्रदर्शन स्थल की तरफ आने की कोशिश करने लगे लेकिन वहां मौजूद महिलाओं ने उन्हें बैरिकेट से पीछे ही रोक दिया।

पत्रकारो को शाहीन बाग में धरना दे रही महिलाओ का सामना करना पड़ा

बता दें सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल हो रहा है जिसमें प्रदर्शन स्थल की तरफ बड़ी संख्या में महिलाएं गोदी मीडिया गो बैक के नारे लगा रही है और दूसरी तरफ पुलिस के साथ दोनों पत्रकार और कैमरा मैन खड़े नज़र आ रहे है।

इस दौरान स्टैंडअप कॉमेडियन कुनाल कामरा ने जी न्यूज़ के पत्रकार सुधीर चौधरी और न्यूज़ नेशन के पत्रकार दीपक चौरसिया के मजे लेने के कोई मौके नहीं छोड़ा कुनाल ने एक मीम के जरिये कमेंट किया जिसमे उन्होंने पूछा मुझे इस मेमे को समझने में आपकी बुद्धिमत्ता पर भरोसा नहीं है, निष्कासित करने में संकोच यहाँ आप दोनों को कुत्ता कहा जा रहा है।

गौरतलब है कि CAA और NRC के खिलाफ पिछले डेढ़ महीने से शाहीन के कालिंदी कुंज मार्ग पर दिन रात आंदोलन चल रहा है जिसमें बड़ी संख्या में महिलाएं और बच्चे शामिल हैं। यहां के प्रदर्शन का संचालन भी महिलाएं कर रही हैं।