सुहागरात में दूल्हे को खाँसी आई, दुल्हन बाथरूम जाने का बहाना बनाकर रातों रात घर से हुई फरार

जब से इस देश में कोरोनावायरस की लहर आई है, उसकी वजह से देश भर के लोगों में इतना ज्यादा डर बैठ चुका है कि अगर कोई थोड़ा छींक या खांस भी देता है तो लोग उसको कोरोना वायरस का म’रीज़ समझने लगते हैं. ऐसे ही एक नयी नवेली शादी में ये मजेदार किस्सा झारखण्ड के धनबाद में बन गया, जिसको पढ़कर ही आपको हंसी आ जाएगी.

नयी-नयी शादी के अरमान लिए दूल्हे भाई ने कभी ये सोचा भी नही होगा कि आज रात सुहागरात का प्रोग्राम हंसी का पात्र बन जायेगा. सात जन्मों का साथ निभाने वाली उसकी प्यारी दुल्हन उसको पहली ही रात में छोड़कर भाग जाएगी यह उसने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा.

सात जन्मों का वादा निभाने वाली पहली ही रात में…

दरअसल हुआ यूं कि धूमधाम से शादी के बाद ये युवक अपनी सुहागरात को लेकर काफी एक्साइटेड था, लेकिन जब दुल्हन उसके कमरे में गयी तो उस दौरान दूल्हे को थोड़ा सा खाँसी चल उठी. उसके बाद दुल्हन ने बाथरूम जाने का बोला और इस तरह से वो उसके कमरे से बाहर निकलकर चली गई.

जब दूल्हे को सुहागरात की सेज पर दुल्हन का इंतजार करते करते काफी देर हो गयी तो उसने बाहर जाकर देखा, तो उसको वह अपने घर में भी कहीं भी नजर नहीं आई. इसके बाद दूल्हे ने दुल्हन के बारे में अपने घरवालों से पूछताछ की तो परिवार के लोगों को भी आश्चर्य हुआ.

घर के सभी लोगों ने काफी देर तक आसपास भी उसकी खोजबीन की, लेकिन दुल्हन का कहीं पता न चला. उसे काफी देर बाद जब दूल्हे के परिवार वालों ने दुल्हन के घर फोन किया तो उन्हें पता चला कि दुल्हन तो उनके घर से जा चुकी है.

मीडिया के अनुसार, धनबाद के एक गांव में यह शादी 30 अप्रैल को हुई थी. इसके बाद दूल्हा दुल्हन को 1 मई की दोपहर में सारी रस्मों के साथ अपनी दुल्हन को अपने घर में गृह प्रवेश करवा लिया था.

फिर उसके बाद सारा दिन मुंह दिखाई जैसी रस्मों व घर के दूसरे अन्य घरेलू कामों में व्यतीत हो गया. फिर जब रात को 11 बजे तो दुल्हन उसके कमरे में दूध लेकर कमरे में आई तो उस समय दूल्हा खाँस रहा था.

दुल्हन ने सोचा कि हो सकता है इसे कोरोना हो, अगर वह इसके साथ रात में इस कमरे में रुकी तो वह भी कोरोना की लपेट में आ जाएगी. इसलिए कुछ सोच विचार के बाद वह हिम्मत जुटाकर किसी तरह से बहाना बनाकर उस कमरे से निकली और सबसे पहले अपने भाई को फोन लगाया.

और उसके भाई ने फिर यह बात किसी को ना बताने की हिदायत देकर अपनी बहन को समझाया कि वह, चार पहिया वाहन लेकर उसको लेने के लिए पहुंच रहा है और तुम जब तक घर से बाहर निकल कर किसी सुरक्षित स्थान तक पहुंच जाओ वहां से इसके बाद वह वहां से उसको ले गया.

दुल्हन को इस बात का मन में इसलिए भी आया की, ससुराल में उसकी ननंद और पड़ोसियों ने उसे मजाक किया कि अब हम जा रहे हैं, अगर जहां देर तक रुके तो कोरोना हो जाएंगे और उसी बात को इस दुल्हन ने गं’भीरता से ले लिया.

दिल्ली (नोएडा) के रहने वाले ज़ुबैर शैख़, पिछले 10 वर्षों से भारतीय राजनीती पर स्वतंत्र पत्रकार और लेखक के तौर पर कई न्यूज़ पोर्टल और दैनिक अख़बारों के लिए कार्य करते हैं।