कोरोना का कहर- गुजरात पर आई आफत डूबा हीरा कारोबार

नाम कोरोनो वायरस -एक ऐसी आफत जिसने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है जहां एक और यह जिंदगियों का दुश्मन बना हुआ है वहीँ औधोगिक व्यवस्था को इसने अपनी चपेट में ले लिया है, सारी दुनिया के साथ भारत भी इससे महरूम नहीं है भारत के प्रसिद्ध सूरत के हीरा कारोबार को भी इसने बुरी तरह प्रभावित किया है।

कोरोना वायरस के बड़ते प्रभाव को देखते हुए चीन से सटे हांगकांग मे भी मेडिकल इमरजेंसी लगी हुई  है, जिसके कारण सभी औधोगिक धंधों के आयात निर्यात पर रोक लगी हुई है जेम्स एंड ज्वेलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल के क्षेत्रीय अध्यक्ष दिनेश नवादिया ने कहा कि हर साल करीब 50,000 करोड़ रुपये का पॉलिश हीरा हॉन्गकॉन्ग एक्सपोर्ट होता है।

चीन में कोरोना वायरस से फीका पड़ रहा सूरत का हीरा कारोबार

अगर इसी तरह 1 महीने और यही सिलसिला रहा तो हीरा कारोबार के क्षेत्र में 8000 करोड़ के नुकसान की आशंका है .मेडिकल इमरजेंसी को देखते हुए गुजरात के कारोबारी भी अपने घरों की और रुख कर रहे है।

चीन में कोरोना वायरस की चपेट में आने से अब तक लगभग  500 लोगों की मौ’त हो चुकी साथ ही 24,000 से ज्यदा लोगों के इससे संक्रमित होने की खबर है। बताया जा रहा है की इन आंकड़ों के अभी और बढ़ने की संभावना है। जिसको देखते हुए चीन सरकार ने 10 दिनों के भीतर 1600 बेड का नया अस्पताल बनाया है।

 

विश्वप्रसिद्द प्रदर्शनी भी हो सकती है रद्द-

हीरा कारोबार के लिए विश्वप्रसिद्द हांगकांग में अगले महीने वैश्विक स्तर की एक प्रदर्शनी होने वाली है यह प्रदर्शनी 2-6 मार्च तक होने वाली है लेकिन यदि हालात नहीं बदले और प्रदर्शनी रद्द हुई तो इससे हीरा कारोबार को गहरी चोट लगने की सम्भावना है।

चीन के कारोबार की भी कमर टूटी –

चीन की अर्थव्यवस्था पर इस वायरस का बहुत बुरा प्रभाव देखने को मिल रहा है. चीन के शेयर बाजार में पिछले 15 दिनों में निवेशकों के कई लाख करोड़ रुपये डूब चुके है।

आपको बता दें की चीन की अर्थव्यवस्था पहले ही 30 साल की सबसे मंदी के दौर से गुजर रही है, ऐसी स्तिथि में इकोनोमी का इस तरह डूबना चाइना के लिए बहुत घातक साबित होगा जिसका असर सारि दुनिया को देखने को मिलेगा।

Leave a Comment