ट्विटर पर ट्रेंड हुआ ‘तब्लीगी जमात पर गर्व है’, दुनियाभर से किये गए लाखों Tweets

कोरोना वायरस की वजह से, मानो पूरी दुनिया एक तरह से थम सी गई है. दुनिया भर में कुछ देशों को छोड़कर, ऐसा कोई सा भी देश नहीं बचा है जिसमें कोरोनावायरस ने अपने पैर न पसारे हों. जहाँ घरों में कैद होने की वजह से लोगों का जनजीवन प्रभावित हुआ हैं, वहीं दूसरी और लोगों के लिए रोज़गार और उनकी रोजी रोटी का भी बड़ा संक’ट पैदा हो गया है.

कोरोना विरस की वजह से तमाम लोगों के काम धंधे बुरी तरह से चौपट हो चुके हैं. यहां तक कि कई देशों की इकोनॉमी तक चौपट हो गई है. जब भारत में कोरोना आया तो यहाँ एक नयी चीज़ देखने को मिली, जिसकी कल्पना तक शायद किसी ने नहीं की होगी. कोरोना वायरस एक दिन हिंदुस्तान से खत्म हो जाएगा, लेकिन यह अपने पीछे बहुत कुछ यादगार चीज़ें छोड़कर जाएगा, जो लोगों को शायद कई सदियों तक याद रहने वाली हैं.

तबलीग़ जमात का काम काबिलेतारीफ़

आपको ध्यान होगा कि इस देश के बिकाऊ मीडिया ने, भारत में कोरोना वायरस फैलने का ज़िम्मेदार तब्लीगी जमात को बताया था. दिल्ली के हज़रात निज़ामुद्दीन के मरकज़ से जुड़ी तबलीगी जमात के लोगों को किस कदर परेशां किया गया ये किसी से छिपा नहीं है.

इस देश के मीडिया के एक बड़े भाग ने कोरोना वायरस का ठीकरा मरकज़ से जुड़ी तबलीगी जमात के ऊपर फोड़ने की कोशिश की थी, जो शायद पूरी तरह से नाकाम हो चुकी है.

जमातियों के बारे में इस देश की बिकाऊ मीडिया ने कितना फेक न्यूज़ फैलाया, तब्लीगी जमात के बारे में मीडिया वालों ने इन लोगों को बेईज्ज़त करने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी.

हज़रत निजामुद्दीन स्थित मरकज़ वाला मामला कई दिनों तक काफी चर्चा में रहा, लेकिन अब वही तब्लीगी जमात की एक बार और फिर से चर्चा हो रही है. लेकिन इस बार उनकी चर्चा बुराई से नहीं बल्कि उनके द्वारा किये गए काम की वजह से हो रही है.

कोरोना वायरस के खिलाफ, सबसे आगे मरकज़ की तबलीग जमात

तबलीग जमात से जुड़े तकरीबन 200 जमाती, कोरोना वायरस के मरीजों के लिए प्लाज़्मा डोनेट करेंगे. हालाँकी अभी तक कई जमाती अपना प्लाज्मा डोनेट कर चुके हैं.

दिल्ली के तबलीग़ जमातीयों का यह नेक काम दुनियाभर में इज्ज़त की निगाह से देखा जा रहा है. और आज ट्विटर पर ‘तब्लीगी जमात पर गर्व है’ हेश टैग ट्रेंड कर रहा है. अब तक दुनियाभर से 1 लाख 36 हज़ार ट्वीट लोगों द्वारा किये जा चुके हैं.

Tableeg jamat par garv hai

गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी लोगों से अपील की थी कि, वह हिंदू-मुस्लिम छोड़ अपना प्लाज़्मा कोरोना वायरस के मरीजों के लिए डोनेट करें.

इस प्लाज्मा की बदौलत कोरोना वायरस की चपे’ट में आये लोगों में इससे लड़’ने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता बढेगी, यानि के उनका इम्यून सिस्टम पहले की अपेक्षा और ज्यादा पावरफुल हो जायेगा.

Leave a Comment