एक बार फिर टूटा कोरोना का रिकॉर्ड, 24 घंटे में सर्वाधिक इतने मामले आए सामने कुल मरीज 4 लाख के करीब

देश में कोरोना संक्र’मण के मामले तेजी से बढ़ रहे है. केंद्र सरकार ने 20 दिन पहले लॉकडाउन खोल गया था इसके बाद से ही कोरोना संक’ट तेजी से गहराता जा रहा है. करीब 60 दिन से ज्यादा दिन तक लागू रहे लॉकडाउन में धीरे-धीरे करके बहुत ज्यादा छूट दे दी गई है. सरकार ने ग्रीन ज़ोन के अंदर होटल, भोजनालय, मॉल और धार्मिक स्थल भी दोबारा से खुलवा दिये गए है. हालांकि यहां पर सावधानियां बतरने के आदेश दिये गए है.

इसके वाबजूद भी कोरोना पॉजिटिव की तादात तेजी से बढती जा रही है. देश में हर रोज पिछले दिन के मुकाबले ज्यादा ही नए केस सामने आ रहे है. इसी कड़ी में पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड नए मामले सामने आए है.

24 घंटे में देश में 14 हजार 516 कोरोना के नए केस सामने आए है जो एक दिन में नए केस मिलने का नया रिकॉर्ड है. वहीं इस दौरान 375 लोगों की कोरोना वायरस के कारण जा’न चली गई.

इसके बाद अब शनिवार तक देश में संक्र’मितों की तादात 3 लाख 95 हजार तक पहुंच गया है. वहीं अब तक कोरोना के चलते दुनिया छोड़कर जाने वालों की तादात 12 हजार 948 पर पहुंच गई है.

वहीं देश में सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित राज्यों की बात करे तो सबसे बुरे हाल महाराष्ट्र में है. पिछले 24 घंटे के अंदर महाराष्ट्र में 3827 से ज्यादा नए सं’क्रमि’त मरीज पाए गए हैं.

इसी के साथ अब सूबे में कोरोना पीड़ितों की संख्या 1 लाख 24 हजार के पार पहुंच गई है. वहीं 24 घंटों के अंदर 142 नई मौ’तों के बाद मृ’तकों की संख्या 5893 हो गई है. आपको पता दे कि देश में हुई कुल मौ’तों और सं’क्रमि’तों के एक-तिहाई से ज्यादा मामले सिर्फ महाराष्ट्र में देखने को मिले हैं.

तमिलनाडु सं’क्रमि’त राज्यों में दुसरे पायदान पर है, जहां पर एक दिन में 2115 नए पॉजिटिव मामले पाए गए है. इसी के साथ अब सूबे में कोरोना पीड़ितों की तादात 54 हजार 449 हो गई है.

दिल्ली तीसरे नंबर पर है जहां 53 हजार 116 केसों हो गए है. तमिलनाडु और दूसरे राज्यों में मौ’त के आंकड़ों की तुलना की जाए तो तमिलनाडु के हालात काफी बेहतर हैं.

जहां अब तक 666 लोगों की जा’न गई है जबकि दिल्ली में 2035, और चौथे नंबर पर मौजूद गुजरात में 1619 लोग दुनिया छोड़कर चले गए है. वहीं भारत के लिए एक राहत की खबर यह है कि अब तक कुल मरीजों के करीब 53 फीसदी यानी 2 लाख 14 हजार 209 लोग स्वस्थ्य होकर अपने घर लौट गए हैं.