बीजेपी नेता को सीएम ममता बनर्जी पर वि’वादित बयान देना पड़ा भारी, यह उत्तर प्रदेश नहीं बंगाल है

रविवार को नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में पश्चिम बंगाल के बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने नादिया जिले के राणाघाट में एक रैली को संबोधित करने के दौरान एक टिप्पणी की थी। जिसको लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जमकर बरसी। बता दें कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष रैली के दौरान कहा था कि जो लोग सरकारी संपत्ती को नुकसान पहुंचा रहे हैं, उसे बीजेपी के शासन वाले राज्यों में कु’त्तों की तरह मा’र दिया जाएगा।

वहीं दिलीप घोष के बयान के बाद से बीजेपी के नेताओं ने भी खुद को किनारा कर लिया। बीजेपी के नेता पार्टी अध्यक्ष के इस बयान से बचते नजर आए। एक बयान में ममता बनर्जी ने कहा कि यह बहुत हीं शर्मनाक है आप ये बोलकर फा’यरिं’ग को बढ़ावा दे रहे हैं। ममता ने उनके इस बयान के बाद कहा कि अगर कल को इस तरह कि कोई घ’टना होती है तो इसके लिए जिम्मेदार वो खुद होंगे।

 

बता दें बंगाल भाजपा के अध्यक्ष ने सीएम ममता बनर्जी पर वि’वा’दित बयान देकर पश्चिम बंगाल की राजनीति में खलबली मचा दी। मुख्यमंत्री पर दिए गए वि’वा’दित बयान के बाद बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष के खिलाफ झाड़ग्राम पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई गई है। वहीं तृणमूल कांग्रेस ने इस बयान को अभद्र और गुंडागर्दी करार दिया है।

नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी को लेकर देश कई राज्यों में इसके विरोध में प्रदर्शन जारी हैं। विरोध प्रदर्शन के दौरान पिछले महीने उत्तर प्रदेश में दो दर्जन लोग मा’रे गए थे। तो वहीं असम में भी पांच लोगों की मौ’त हुई थी। बता दें कि इन दोनों प्रदेश में बीजेपी का शासन है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने दो दिवसीय यात्रा पर शनिवार को बंगाल पहुंचे थे।

वही ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री से राजभवन में मुलाकात कर नागरिकता संशोधन कानून वापस लेने की बात कही। बता दें अपने दो दिवसीय यात्रा के दौरान मोदी ने रविवार को बेलूर मठ में कहा कि नागरिकता संशोधन कानून से किसी भी भारतीय नागरिक से उसकी नागरिकता नहीं छिनने वाला है। किसी भी भारतीय को इससे चिंतित नहीं होना चाहिए।