VIDEO: बिकाऊ मीडिया ने सोनभद्र में सोना मिलने की फ़र्ज़ी खबर कराई वायरल?, यहाँ से हुआ खुलासा

जब भी देश में पब्लिक को कहीं उलझाकर किन्ही मुद्दों को दबाना हो, या ख़बर विशेष से ध्यान हटाना हो तब ऐसे में हमारे देश का बिकाऊ मीडिया एक अहम रोल अदा करता है. इससे पहले भी देश की बिकाऊ मीडिया की कई पोलें हमने खोली हैं. अभी हाल ही में उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में सोना निकलने की बात मीडिया में चलती हुई नजर आ रही है.

कुछ मीडिया के एंकर और लोग सोशल मीडिया पर 3,000 टन सोना निकलने की खबर को रामराज्य से जोड़ रहे हैं. जबकि यह खबर पूरी तरह से निराधार है. कहीं कोई सोना नहीं मिला है, मीडिया में बिना बात का बतंगड़ बन गया है.

भारतीय मीडिया दुनियाभर में 136 वें स्थान पर ऐसे ही नहीं पहुँच गया

मीडिया के अनुसार उत्तर प्रदेश के खनन अधिकारी ने बताया कि सोनभद्र की हल्दी घटी में 3000 टन सोना होने की पुष्टि की गई है, जबकि यह खबर पूरी तरह से फर्जी है. इससे पहले भी एक बार और इसको लेकर देश के मीडिया ने इस तरह की खबरें वायरल की थीं.

 

अमर उजाला की खबर के अनुसार, यूपी के जिला खनन अधिकारी ने कहा की जीएसआई के महानिदेशक एम श्रीधर ने कोलकाता से यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जीएसआई की ओर से इस तरह का डाटा किसी को नहीं दिया जाता। जीएसआई ने सोनभद्र जिले में इतना सोना होने का कोई अनुमान नहीं लगाया है।

भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण टीम ने इस ख़बर को सिरे से ख़ारिज किया है. अब यह जांच का विषय है कि उत्तर प्रदेश के उस खनिज अधिकारी ने किस बात के आधार पर उत्तर प्रदेश के सोनभद्र घटी में 3,000 टन होना होने की बात कही थी और क्यों कही.

हालांकि इस जगह के क्षेत्र विशेष में 1998-99 और सन 1999-2000 में खुदाई जरूर हुई थी. लेकिन वहां पर कुछ संतोषजनक परिणाम नहीं निकले थे.

 

खुदाई हुयी थी यह भी सच है… लेकिन

उस दौरान भी भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण टीम ने वहां सर्वे किया था, लेकिन खुदाई होने के बाद उतने उत्साहजनक परिणाम नहीं निकले.

इधर भारतीय मीडिया की माने तो वह तरह-तरह के तर्क इसमें बता रहे है, कुछ लोग इस बात पर बहस कर रहे हैं कि इसकी खुदाई में देरी क्यों हो रही है, तो वहीं कुछ लोग इसको बता रहे हैं कि यह ज़मीन वन विभाग की है इसलिए इसकी खुदाई में रोड़ा अटक रहा है.

भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के इस ख़बर को सिरे से ख़ारिज करने के बाद मानो मीडिया को सांप सूंघ गया हो. क्या अब ये सभी लोग इस खबर का खंडन करेंगे या बेशर्मों की तरह एक बार और चुप्पी साधी जाएगी.

Leave a Comment