VIDEO: मैं रहम की भी’ख मांगता रहा, लेकिन वो कपिल मिश्रा का नाम लेकर मा’रते रहे, मो. जुबैर की आपबीती

नागरिकता कानून का समर्थन करने वाले और विरोध करने वालों ने दिल्ली को आग में झोंक दिया। नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के कई इलाकों में पिछले तीन दिनों से जारी हिं’सा में अभी तक 20 लोगों की मौ’त हो चुकी है, जिसमें एक पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। वहीं रविवार से जारी हिं’सा में अब तक करीब 250 से अधिक लोग घायल हो गए हैं, जिनमें करीब 56 से ज्यादा दिल्ली पुलिस के जवान हैं।

नॉर्थ ईस्ट दिल्ली यानी उत्तर पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर और चांदबाग में रविवार, सोमवार और मंगलवार को लगातार हिं’सा होती रही जिसकी वजह से प्रशासन ने धा’रा 144 लगा दिया है और भारी पुलिसबल तैनात है। आज इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट में अलग अलग याचिकाओं पर सुनवाई है।

वही उत्तर पूर्वी दिल्ली बीते सोमवार 24 फरवरी को जब मोहम्मद जुबैर चांदपुर में अपने घर से निकला तो उसके मन में सिर्फ एक चीज थी कि वो लौटते समय बच्चों के लिए हलवा और पराठा लेकर आएंगे। लेकिन घर वापस लौटने से पहले ही हिं’सक भी’ड़ ने उन्हें घेर लिया और ला’ठी और रॉ’ड से उनपर जमकर ह’मला बोल दिया।

जुबैर ह’मला’वरों से रहम की भी’ख मांगता रहा लेकिन वो नहीं रुके। इस दौरान मोहम्मद जुबैर पर ह’मले की वारदात एक कैमरे में कैद हो गई। जिसकी तस्वीर और वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहे है। वही बेसूद जुबैर को जब होश आया तो वह दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती थे। उसे अपने ऊपर ह’मले को लेकर बहुत ज्यादा कुछ तो याद नहीं है लेकिन वो वायरल तस्वीर उसके दर्द को ताजा कर रही है।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार मोहम्मद जुबैर ने बताया कि, वो लोग तब तक मुझे पी’टते रहे तब तक मैं अधम’रा नहीं हो गया। मैंने उनसे रहम की भी’ख मांगी तो वो लोग और बुरी तरह मुझे मा’रने लगे। वो लोग मजहब को लेकर गा’लियां दे रहे थे और कपिल मिश्रा का नाम लेकर पीटे जा रहे थे।

वही मोहम्मद जुबेर ने कहा की मैं बस अल्लाह से यही दुआ कर रहा था कि मेरे बच्चे सुरक्षित हों। मुझमें अपनी वो वायरल तस्वीर देखने की हिम्मत नहीं है। बता दें कि 24 फरवरी की सुबह मोहम्मद जुबैर पास के ही मस्जिद में नमाज अदा करने के लिए घर से निकला था।

चश्मदीदों के मुताबिक मस्जिद से लौटते वक्त वह सीएए के समर्थन में जुटी भी’ड़ के ह’त्थे चढ़ गए। भी’ड़ उसे ला’ठी और लो’हे की रॉ’ड से बेहो’श हो जाने तक पी’टती रही। इस ह’मले में जुबैर के सिर, हाथ, कंधे और पैर में गं’भी’र चो’टें आई हैं। फिलहाल वह जीटीबी अस्पताल में भरी है।

आपको बता दें मोहम्मद जुबैर की दो बेटियां हैं जिनकी उम्र 5 और 2 साल है। एक 4 साल का बेटा भी है। अपने ऊपर हुए ह’मले के बाद जुबैर ने बच्चों को उत्तर प्रदेश में अपने गांव बेज दिया है। वहीं जुबैर की पत्नी पारीवारिक शादी में शामिल होने गई है। जुबैर उसे शादी से वापस लेने जाने वाला था।

नौवीं पास जुबैर जो कि मजदूरी करके करीब अपनी रोजी रोटी चलते है। उन्होंने बताया कि, मेरी पत्नी और बच्चे इन सबसे बहुत दूर हैं। मैं किसी तरह से कोई राजनीतिक आदमी नहीं हूं। मुझे किसी से कोई मतलब नहीं है। मैं तो सिर्फ दुआ की नमाज पढ़ने गया था और वापसी में बच्चों के लिए मिठाई लेकर लौट रहा था।

Leave a Comment