VIDEO: देश की अर्थव्यवस्था का कचरा कर वह आज समुद्र किनारे फ़ैला कचरा सम्भाल रहा था: अलका लांबा

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने प्रधानमंत्री के तौर पर अपने पहले कार्यकाल में ही स्वच्छ भारत अभियान (Swachh Bharat mission) की शुरुआत की थी पीएम मोदी खुद कई मौकों पर स्वच्छ भारत के तहत सफाई करते हुए दिखाई दे जाते हैं। हाल ही में पीएम मोदी ने चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग (Xi Jinping) से अनौपचारिक बातचीत के लिए तमिलनाडु के महाबलीपुरम में मुलाकात की जिसके बाद शनिवार को पीएम मोदी ने महाबलीपुरम के एक समुद्र तट पर जॉगिंग के दौरान साफ-सफाई की. जिसका एक वीडियो खुद पीएम मोदी ने एक ट्वीट किया।

अपने ममल्लापुरम दौरे के दौरान मोदी ने वहां के एक समुद्र तट की साफ-सफाई की और वीडियो ट्वीट करते हुए जानकारी दी की आज सुबह ममल्लापुरम के एक तट पर जॉगिंग के साथ साफ सफाई की हम सभी को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हमारे सार्वजनिक स्थान साफ सुथरे रहें. साथ ही हमें यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि हम फिट रहे और स्वस्थ रहें।

दरअसल पीएम मोदी के इस काम की जहां लोग तारीफ कर रहे हैं तो वहीं कुछ लोगों ने इसकी आलोचना भी कर रहे है। आलोचना करने वालो में विपक्ष से लेकर आम आदमी तक है अब इस लिस्ट में फिल्म अभिनेता प्रकाश राज का नाम भी जुड़ गया है। प्रकाश राज ने तंज कसते हुए अपने ट्वीट में पीएम मोदी का वीडियो शेयर करते हुए लिखा- नेताओं की सुरक्षा कहां गायब हो गई है। आखिर आपने उन्हें एक कैमरामैन के साथ अकेला साफ-सफाई के लिए क्यों छोड़ दिया है।

प्रकाश राज ने आगे लिखा की जब विदेशी मेहमान भारत आए हुए हैं, तो तब संबंधित विभाग ने सफाई नहीं करने की कैसे हिम्मत दिखाई। यूं ही पूछ रहा हूं वही सोशल मीडिया पर बहुत से ऐसे भी लोग हैं जो उनके इस वीडियो को मात्र पीआर मान रहे हैं। उनका कहना है कि प्रधानमंत्री को अगर एक अच्छा मैसेज देना ही था तो उन्होनें सफाई के लिए ‘सिंगल यूज़ प्लास्टिक’ का इस्तेमाल क्यूँ किया?

वही चांदनी चौक की पूर्व विधायक और आम आदमी पार्टी (AAP) की पूर्व नेता अलका लांबा ने तंज कसते हुए अपने ट्वीट में पर लिखा की देश की अर्थव्यवस्था का कचरा कर वह आज समुद्र किनारे फ़ैला कचरा सम्भाल रहा था अगर प्रधानमंत्री को यही काम करना है तो अगली बार चाय बेचने वाले की जगह कचरा बीनने वाले को ही प्रधानमंत्री बनाना बेहतर होगा

हलाकि कई लोग पीएम मोदी के इस वीडियो को लेकर सवाल उठाते हुए लिख रहे है की कचरे को इकठ्ठा करने के लिए सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल! मोदीजी यहाँ कौन-सा मेसेज देना चाहते हैं? यही होता है जब आप सुर्ख़ियों में बने रहने के लिए कुछ भी करते हैं।

साफ़-सफाई का प्रचार करना यकीनन अच्छी बात है। पीएम द्वारा स्वच्छता अभियान चलाना और भी अच्छी बात है। लेकिन सवाल तब उठते हैं जब प्रधानमंत्री फोटो खिंचवाने के साथ-साथ ज़मीनी हकीकत को छुपाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here