VIDEO TRP Scam: आपस में ही भि'ड़ गए सारे न्यूज़ चैनल, सुधीर चौधरी और अंजना का रिपब्लिक पर हल्ला बोल

VIDEO TRP Scam: आपस में ही भि’ड़ गए सारे न्यूज़ चैनल, सुधीर चौधरी और अंजना का रिपब्लिक पर हल्ला बोल

मुंबई पुलिस ने टीआरपी को लेकर बड़ा खुलासा किया है. इसके बाद से ही मीडिया चैनल आपस में ही भि’ड़ गए. खास तौर पर अंजना ओम कश्यप और अर्नब गोस्वामी ने सीधी भि’ड़त देखने को मिल रही है. टीआरपी स्कैम के सामने आने के बाद से ही कश्यप सीधे-सीधे अर्नब गोस्वामी के रिपब्लिक चैनल को नि’शाना बना रही है. गोदी मीडिया के यह चैनल आज आपस में ही एक दुसरे के विरो’धी बने हुए हैं.

गुरुवार को मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि टीआरपी रेटिंग में ची’टिं’ग की जा रही है जो एक गंभी’र अप’रा’ध हैं. इसे रोकने के लिए हम जांच कर रहे है और इसमें फरेंसिक एक्सपर्ट की मदद भी ली जा रही हैं. इस मामले में दो छोटे चैनलों के मालिकों को गिरफ्तार किया गया है.

इसी के आधार पर अब आगे की कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने बताया कि फख्त मराठी और बॉक्स सिनेमा के मालिकों को टीआरपी में छे’ड़ छा’ड़ के चलते गिरफ्ता’र किया गया है. इस मामले में ब्री’च ऑफ ट्रस्ट और धो’खाध’ड़ी का मामला दर्ज किया गया है.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में जैसे ही परमबीर सिंह ने टीआरपी स्कैम की बात कही, पूरी मीडिया ने रिपब्लिक टीवी पर हम’ला बोल दिया. आजतक, जी न्यूज़ से लेकर सभी चैनलों ने अर्नब और रिपब्लिक पर जमकर निशाना साधा.

 

साफ तौर पर जब बात टीआरपी की जाए तो अन्य चैनल्स का द’र्द बढ़ना स्वभाविक है. इसलिए ही अन्य चैनल्स भी इस मामले में ब’ढ़-चढ़कर हवा दे रहे हैं.

क्या हैं टीआरपी का खेल?

दरअसल किसी भी चैनल या फिर उस आने वाले प्रोग्राम की TRP (Television Rating Point) घट’ती या बढ़ती हैं तो इसका सीधा असर उनके मार्केट शेयर पर पड़ता हैं. जिससे सीधे तौर पर उनकी इनकम प्रभावित होती हैं.

टीआरपी के जरिए ही चैनल की पॉपुलैरिटी को समझा जाता है. मीडिया जगत में नए-नए आए रिपब्लिक टीवी की टीआरपी तेजी से बढ़ने से ने चैनलों में परेशानी होना वाजिब हैं. वहीं रिपब्लिक टीवी की तेजी से बढ़ती टीआरपी इन चैनलों को पहले से ही खट’क रही होगी.

साभार- जी न्यूज़