जी न्यूज़ के बाद अब इस बड़े न्यूज़ चैनल में हुआ कोरोना का विस्फोट, प्रबंधन की ओर से धमकी और लापरवाही…

जी न्यूज़ के बाद अब एक और टीवी चैनल कोरोना की चपेट में आ गया है. खबरों के अनुसार टीवी-9 भारतवर्ष के कई कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए जाए है जिसमें एक महिला एंकर भी शामिल हैं. इस खबर ने हर किसी को दंग कर दिया है. इसके लिए टीवी प्रबंधन को दोषी बताया जा रहा हैं. खबरों के अनुसार कर्मचारियों ने मैनेजिंग एडिटर और प्रबंधन से मांग की है कि कंपनी उनका टेस्ट करवाए तभी वह दफ्तर से काम कर सकेंगे.

लेकिन इस पर प्रबंधन ने हैरान कर देने वाला जवाब कर्मचारियों को दिया. प्रबंधन ने कहा कि अगर टेस्ट कराया जाता है तो तीन दिन के लिए उस कर्मचारी को आइसोलेट करना होगा ऐसे में चैनल में काम रुक जाएगा. बड़ी मुश्किलों से हम टीआरपी में अच्छी रैंक पर पहुंचे है ऐसे में कंपनी किसी का टेस्ट नहीं करवाएगी यह कंपनी का काम नहीं हैं.

tv bhartvarsh

चैनल में काम करने वाली एक एंकर और दो अन्य कर्मचारी की रिपोर्ट गुरुवार को पॉजिटिव आई. जबकि इनमें से दो कर्मचारी दिन भर ऑफिस में काम कर रहे थे. इसी दौरान एंकर अपने शो के दौरान कई बड़े नेता और विशेषकों के संर्पक में भी रही थी.

चैनल के एक कर्मचारी ने बताया कि गुरुवार को तीन लोग पॉजिटिव आए है जबकि इससे पहले और पांच लोगों का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आ चुका है. यानि चैनल में एक हफ्ते में आठ मामले सामने आ चुके है. कर्मचारी ने कहा कि यहां कोरोना मामलों की बढती तादात से सभी कर्मचारी डरे हुए.

नियमों के मुताबिक जब भी कोई पॉजिटिव आता है तो उसके संपर्क में आए सभी का टेस्ट कराना अनिवार्य होता है लेकिन टीवी9 सभी नियमों की अनदेखी कर रहा है. चैनल पॉजिटिव आए लोगों के आसपास के कुछ लोगों को सिर्फ क्वारंटाइन कर देता है जबकि बाकी लोग काम करते रहते हैं.

एक कर्मचारी ने बताया कि अब तक कोरोना के जितने टेस्ट हुए हैं वह कर्मचारियों ने खुद से कराए है. प्रबंधन ने अब तक किसी भी कर्मचारी का टेस्ट नहीं कराया है. दरअसल प्रबंधन का कहना है कि कर्मचारियों के टेस्ट की जिम्मेदारी उनकी नहीं है.

एक महिला कर्मचारी के अनुसार चैनल में वीओ करने वाले कर्मचारी को खुद में कोरोना के लक्षण नजर आया. जिसके बाद उन्होंने खुद ही अपना टेस्ट कराया. जो पॉजिटिव आया इसके बाद वीओ रूम को सील कर दिया गया. और उनके आसपास के दो तीन लोगों को क्वारंटाइन कर दिया गया.

tv9

जबकि वीओ आर्टिस्ट के संपर्क में काफी लोग आते है. हम सब स्क्रिप्ट लेकर उनके पास ही जाते है और जब वीओ हो जाता है तो स्क्रिप्ट वापस लेते हैं. मेरी तरह बहुत से लोग उनके संपर्क में आते थे लेकिन प्रबंधन ने ना तो हमारा टेस्ट करवाया और ना ही हमें क्वारंटाइन होने की इजाजत दी गई.

इस तरह की लापरवाही चैनल में रोज की जा रही हैं. इतना ही नहीं प्रबंधन पर कर्मचारियों को रोज ऑफिस आने के लिए धमकाने के मामले भी सामने आए हैं. अगर ऐसा ही चलता रहा तो यहां जी न्यूज़ से भी बड़े पैमाने पर कोरोना सं’क्रमित देखे जा सकते हैं.