कृषि कानून के खिलाफ चल रहा ‘किसान आंदोलन’ उग्र हुआ, पुलिस द्वारा जबरजस्त लाठी चार्ज, आंसू गैस के गोले फैंके

दिल्ली में घुसने से पहले सिंघु बार्डर पर किसानों पर दागे आंसू गैस के गोले, दोनों तरफ से पथराव, पुलिस द्वारा लाठी चार्ज किया गया- सुबह से दो बार पुलिस और किसानों के बीच जबरजस्त झड़प

दिल्ली: देश का अन्नदाता किसान केंद्र सरकार द्वारा लाये गए कृषि कानूनों के खिलाफ महीनों से आंदोलन कर रहा है। कल गुरुवार को भी यह किसान आंदोलन जारी रहा जिसमें पंजाब और हरियाणा के किसानों पर दिल्ली में घुसने से पहले पुलिस ने आंसू गैस के गोले दाग दिए परंतु फिर भी किसानों का कहना कि वह दिल्ली जाकर की इस आंदोलन को अंजाम तक पहुचायेंगे।

किसानो के बढ़ते आंदोलन को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने भी सुरक्षा के कड़े इतंजाम किये है। किसानों को रोकने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल बॉर्डर पर तैनात किया है और बैरिकेडिंग लगाए गए हैं कहीं कहीं कंटीले तार भी लगाए गए हैं।

I am With Farmers
(फोटोः PTI)

किसान अब दिल्ली फतह करेगा?

हरियाणा पुलिस के महानिदेशक मनोज यादव ने बताया कि हरियाणा पुलिस कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए प्रतिबद्ध है और वह किसानों के साथ बड़े संयम के साथ पेश आ रही है उन्होंने यह भी बताया कि किसानों ने कल कई जगह बेरिकेट्स तोड़ दिए और वह आगे बढ़ गए।

कल पंजाब हरियाणा सीमा पर पुलिस ने किसानों पर ठंडे पानी की बौछारों का इस्तेमाल किया परन्तु फिर भी किसान आगे बढ़ने में कामयाब हो गए।

Kisan Andolan Live Delhi
(फोटोः PTI)

 

कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन से हाइवे पर आने जाने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि हाइवे पर प्रत्येक वाहन की पुलिस डरा तलाशी ली जा रही है पुलिस को डर है कि किसान छोटे छोटे ग्रुप में बंटकर दिल्ली में प्रवेश कर सकते हैं।

वहीं सिंधु बॉर्डर पर किसान और पॉलिस की झड़प के बीच किसानों ने कहा कि ‘ लोकतंत्र में सभी को अपनी बात रखने का अधिकार है वो शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन कर रहे हैं और वे इसे इसी ढंग से जारी भी रखेंगे।

आपको बता दे कि दिल्ली की तरफ कूच कर रहे किसान काफी सामग्री साथ लेकर चल रहे हैं जिससे कि लंबे चल रहे आंदोलन में यह सामग्री काम आ सके।

वही किसान आन्दोलन में साथ चल रहे स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव को गुरुग्राम पुलिस ने हिरासत में ले लिया। योगेंद्र यादव किसानों के साथ हरियाणा से दिल्ली की ओर बढ़ रहे थे।