सीएम योगी का एलानः यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी का एजेंडा रोजगार और विकास नहीं बल्कि यह होगा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को महर्षि वाल्मीकि जयंती के मौके पर चित्रकूट स्थित महर्षि वाल्मीकि आश्रम लालापुर पहुंचे. यहां पर पहुंच कर उन्होंने हवन और गौ-पूजा करके महर्षि को श्रद्धांजलि अर्पित की. इस दौरान उन्होंने वाल्मीकि आश्रम में अखण्ड रामायण पाठ का शुभारंभ भी किया. सीएम योगी आश्रम में पूजा-अर्चना संपन्न करने के बाद पर्यटन से संबंधित कई कार्यों का शिलान्यास करने पहुंचे.

इस दौरान उन्होंने एक जनसभा को भी संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि घा’तक म’हामारी कोविड-19 के ख’त्म होते ही हमारा पहले और सबसे महत्वपूर्ण लक्ष्य होगा कि उत्तर प्रदेश के हर गांव से कुछ लोगों को अपने साथ लेकर हम अयोध्या के लिए रावना होगें और वहां पर राम जन्मभूमि के दर्शन भी कराएंगे.

Valmiki

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही राम मंदिर के निर्माण में कारसेवा भी कराएंगे. शुक्रवार को पहली बार महर्षि वाल्मीकि आश्रम लालापुर में सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे थे . जबकि सीएम योगी सातवीं बार वाल्मीकि जयंती के मौके पर चित्रकूट आए हैं.

सीएम योगी यहां पर करीब 2 बजे पहुंचे, मुख्यमंत्री के कार्यक्रम को लेकर जिला प्रशासन की तरफ से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे. सीएम योगी ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि भारत के रामायणकालीन अति प्राचीन परंपरा के वाहक दो ऋषियों की जयंती है.

उन्होंने आगे कहा कि पहले वाल्मीकि जी, जिन्होंने सबका भगवान राम से साक्षात्कार कराया है और दूसरे राष्ट्र ऋषि नानाजी की जयंती है. मैं दोनों को नमन करता हूं.

यूपी सीएम ने कहा कि लोग सनातन धर्म पर सवाल उठाते है, सनातन धर्म के मूल्यों को हजारों वर्ष से साधना बनाने वाले वाले महर्षि वाल्मीकिजी की अखंड रामायण का पाठ कराने का अवसर मिला है.

उन्होंने कहा कि जल्द ही सूबे के हर देव मंदिर में इसका पाठ शुरू कराया जाएगा. उन्होंने कहा कि अब तो ऐसा वक्त आ गया है कि हर क्षेत्र में बदलाव की झलक देखने को मिल रही है. प्रभु श्रीराम का चित्रकूट आज नए कदम बढ़ाता नजर आ रहा है, यही तो रामराज्य है, जहां किसी प्रकार का कोई भेदभाव नहीं किया जाता है.

साभार- लाइव हिंदुस्तान