UPSC में मुसलमानों की बढ़ती भागीदारी पर अलका लांबा ने कहा- अंधभक्तों को चिंता सताने लगी कि उनकी पंचर…

यूपीएससी के 2019 के परिणामो में मुस्लिम समुदाय की बढ़ती भागीदारी इन दिनों देशभर में चर्चा का विषय बनी हुई है. भारतीय जनता पार्टी की सरकार में यूपीएससी में हर साल मुस्लिम समाज के छात्रों की भागीदारी तेजी से बढ़ती जा रही है. वहीं इस साल यूपीएससी में मुस्लिम समाज की भागीदारी में 40 फीसदी बढ़ोत्तरी हुई है जिससे मुस्लिम समुदाय गदगद हैं. इसी बीच कांग्रेस नेता ने इसे लेकर अंधभक्तों को निशाना बनाया है.

कांग्रेस की चर्चित नेता अलका लांबा ने एक ट्वीट करते हुए मुस्लिम समाज की बढ़ती भागीदारी पर ख़ुशी जाहिर की इसके साथ ही उन्होंने अंधभक्तों पर तं’ज भी कसा है. आपको बता दें कि लांबा ने प्रसन्नता प्रकट करते हुए इसे सुखद और बड़ा बदलाव बताया है.

अलका लांबा ने अपने ट्वीट में कहा कि यह एक सुखद और बड़ा बदलाव है जो यक़ीनन मुस्लिम समाज के प्रति लोगों की सोच को बदलेगा.. मुबारक

इसके साथ ही उन्होंने अंधभक्तों पर तं’ज कसते हुए आगे लिखा कि पर यह देख अंधभक्तों को चिं’ता सताने लगी होगी कि अब उनकी पंचर साइकल में #हवा कौन भरेगा. अंधभक्त अब अपनी पंचर साइकल के आगे बैठ कर हवन करेगें-हवन करेगें-हवन करेगें.

अलका लंबा सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती है. वो अपने ट्वीट के जरिए लोगों की आवाज़ उठती हुई भी नजर आती है. अलका लंबा अक्सर ही बीजेपी सरकार और बीजेपी नेताओं को तीखे हम’ले करती रहती हैं.

अभी हाल ही में उन्होंने पर्यावरण के मुद्दे पर नए कानून के विरोध में भी अपने सुर मुखर किये है. उन्होंने भी इस कानून का खुलकर विरोध किया है. इस मामले को लेकर उन्होंने ट्वीट करके अपना विरोध जताया है.

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि देश के सभी पर्यावरण संरक्षकों, विशेषज्ञों और देश के सभी नागरिकों से अपील है कि पर्यावरण को बचाने की ल’ड़ाई कोई राजनैतिक ल’ड़ाई नहीं है. आप लोगों का धर्म है कि आप समय रहते आगे आए और पर्यावरण को बचाने के लिए आवाज़ उठाए, देश को सही और गलत बताएं.