राजस्थान में कांग्रेस सरकार गिराने के लिए विधायकों को खरीदने रखा गया था कितना बजट? हुआ खुलासा

राजस्थान में पिछले कई दिनों से चल रही सियासी उठापटक थमने का नाम ही नहीं ले रही हैं. दो गुटों में बढ़ चुकी राजस्थान कांग्रेस के विधायक अभी भी होटलों में रुके हुए हैं. वहीं कांग्रेस-बीजेपी राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर एकदूसरे पर जुबानी ह’मले कर रहे हैं. कांग्रेस इस स्थिति के लिए बीजेपी को जिम्मेदार बता रही हैं. वहीं इस सबके बीच सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपनी सरकार को स्थिर और मजबूत करने के प्रयासों में जुटे हुए हैं.

दरअसल विधायकों की खरीद-फरोख्त के आरोपों के बीच अब तक तीन ऑडियो क्लिप सामने आ चुकी हैं और राजस्थान पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) इस मामले की छानबीन में लगा हुआ हैं. एसओजी ने ऑडियो में नाम आने के बाद संजय जैन को इस मामले में गिरफ्तार कर लिया हैं.

इसी के साथ कहा जा रहा है कि एसओजी ने इस बात के सबूत पाए हैं कि संजय जैन ने अशोक गहलोत खेमे के तीन विधायक ख़रीदने के लिए 100 करोड़ रुपए का बजट रखा था.

बीते शुक्रवार गिरफ़्तार के बाद जैन को SOG ने चार दिन की रिमांड पर लिया था. वायरल हुए ऑडियो के आधार पर टीम ने संजय जैन, अशोक सिंह और भरत मालानी को गिरफ़्तार कर लिया था. टीम का दावा है कि असली खेल तो कहीं और ही खेला जा रहा हैं, गिरफ्तार किये गए यह लोग तो साजिश की छोटी सी कड़ी मात्र हैं.

वहीं राजस्थान बीजेपी के प्रवक्ता इस ऑडियो कां’ड को बीजेपी को बदनाम करने की कांग्रेस द्वारा रची गई साजिश करार दे रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ़ कांग्रेस के प्रवक्ता दावा कर रहे हैं कि जैन बीजेपी के कार्यालय में बीजेपी के लिए काम करते हैं और उसने केंद्रीय नेताओं के कहने पर राजस्थान की कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का प्रयास कर रहे हैं.

उदयपुरवाटी सीट से कांग्रेस के विधायक राजेंद्र गुड़ा ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें भी पार्टी बदलने का लालच दिया गया. उन्होंने दावा किया कि संजय जैन ने उन से संपर्क साधा था. जैन ने छह महीने पहले ही मुलाकात की थी और उन्हें वसुंधरा राजे ने मिलाने की बात कही थी.

गुड़ा ने दावा किया कि विधायकों को खरीदने के मामले में जिन तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है वो पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के करीबी हैं. वहीं सूबे के सीएम अशोक गहलोत ने भी यही कहा कि उनके विरोधी उनकी सरकार को गिराने के लिए डील कर रहे थे.

साभार- लल्लनटॉप