VIDEO: शाहीनबाग जैसे जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास महिलाओं ने जाम की सड़क, भारी सुरक्षाबल तैनात, मेट्रो स्टेशन भी बंद

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) एनपीआर (NPR) और एनआरसी (NRC) के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग की तरह अब जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के बाहर भी नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में बड़ी संख्या में लोग इकट्ठे होकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। प्रदर्शनकारियों ने सीलमपुर को मौजपुर और यमुना विहार से जोड़ने वाले मार्ग संख्या 66 को बंद कर दिया।

बता दें पिछले डेढ़ माह से जाफराबाद रोड पर धरने पर बैठी महिलाएं शनिवार देर रात जाफराबाद मुख्य सड़क पर उतर आईं। जिसके चलते दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) ने मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया है। रात जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के निकट लगभग 500 लोग इकट्ठा हुए जिससे एक मुख्य सड़क बंद हो गई।

शनिवार रात करीब साढ़े दस बजे धरने पर बैठी महिलाएं जाफराबाद मुख्य सड़क पर आ गईं और मेट्रो स्टेशन के पास जाम लगा दिया। आधे घंटे तक महिलाओं ने सड़क को बंद कर दिया।

वहीं, प्रदर्शनकारियों ने ने दावा किया कि मौके पर एक भी महिला पुलिसकर्मी मौजूद नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि यह नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ आंदोलन को और तेज करने के लिए है।

हलाकि मुख्य मार्ग होने की वजह से वहां लंबा जाम लग गया। इसके बाद पुलिस ने महिलाओं को समझाने की कोशिश की लेकिन नाकाम होने पर पुलिस ने उन्हें खदेड़ दिया। इसके बावजूद महिलाएं कभी गली तो कभी सड़क पर आकर नारेबाजी करने लगीं जो देर रात तक जारी रहा।

आपको बता दें रातभर चले प्रदर्शन के बाद जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए गए। इस स्टेशन पर ट्रेनों का ठहराव भी नहीं होगा। इस बात की जानकारी दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने ट्वीट कर दी।

वही विरोध कर रहीं हजारों महिलाओं ने तिरंगा हाथ में लेकर ‘आजादी’ के नारे लगाए और सरकार से सीएए को वापस लेने की मांग की। कानून-व्यवस्था को देखते हुए प्रशासन ने मौके पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया है। प्रदर्शनकारियों के सड़क पर बैठने की वजह से इधर से लोगों की आवाजाही बंद हो गई है।

Leave a Comment