अंबानी का रिलायंस हैड ऑफिस हाथ से निकला, यस बैंक ने कब्ज़ा किया

एक समय दुनिया के छठवें अमीर शख्स रहे अनिल अंबानी के दिन अब बदल चुके हैं. अनिल अंबानी का समय अच्छा नहीं चल रहा है और अब उन्हें अपना मुख्यालय तक गंवाना पड़ा है. उनके अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप (ADAG) के मुंबई स्थित मुख्यालय रिलायंस सेंटर को अब यस बैंक ने अपने नियंत्रण में ले लिया है. बैंक ने इसकी जानकारी फाइनेंशियल एक्सप्रेस में प्रकाशित विज्ञापन के जरिए दी हैं.

बैंक ने विज्ञापन में बताया है कि उसने मुंबई के सांताक्रूज इलाके में मोजूद ADAG के 21,000 स्क्वेयर फीट के मुख्यालय रिलांयस सेंटर को अपने कब्जे में ले लिया है. इसके अलावा यस बैंक में दक्षिण मुंबई में स्थित नागिन महल के भी दो फ्लोर को अपने अधिकार में ले लिए हैं.

बताया जा रहा है कि यह कार्रवाई बैंक में 22 जुलाई को SARFESI ऐक्ट के तहत की है. भारत के सबसे अमीर और दुनिया के पांचवें अमीर शख्स मुकेश अंबानी के भाई अनिल अंबानी द्वारा 2,892 करोड़ रुपये का कर्ज लिया गया था जिसे नहीं चुकाने पर बैंक ने यह कदम उठाया हैं.

यस बैंक का कुल 12,000 करोड़ रुपये अनिल अंबानी के ग्रुप पर बकाया है. आपको बता दें कि इसी साल मार्च में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा की गई पूछताछ के दौरान अनिल अंबानी ने कहा था कि उन्होंने यस बैंक से को कर्ज लिया है वो पूरी तरफ से सेफ है.

इस दौरान उन्होंने कहा कि वो यस बैंक का पूरा कर्ज देंगे चाहे इसके लिए उन्हें अपनी संपत्तियां भी क्यों न बेचने पड़ें. अनिल को कर्ज देने में यस बैंक द्वारा की गई अनियमितता के आरोपों को लेकर हुई पूछताछ में अनिल अंबानी ने कहा था कि बैंक के पूर्व डायरेक्टर राणा कपूर, उनकी पत्नी, बेटी या फिर उनके अधिकार वाली किसी भी कंपनी से उनका कोई संबंध नहीं हैं.

आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय ने मई महीने में ही राणा कपूर और उनके बेटियां रोशनी कपूर, राधा कपूर और राखी कपूर के खिलाफ यस बैंक फ्रॉड मम्मले में चार्जशीट दायर की है. इस चार्जशीट में मॉर्गन क्रेडिट्स, यस कैपिटल और Rab इंटरप्राइजेज का जिक्र भी किया गया है.