VIDEO: योगी सरकार ने CAA प्रदर्शनकारियों की चौराहों पर लगाई तस्वीरें, कहा अगर जुर्माना नहीं भरा तो होगी…

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के कई चौराहे पर लगे होर्डिंग्स यहां लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गए हैं। नागरिकता कानून के विरोध प्रदर्शन के दौरान हिं’सा के आरोपियों की फोटो वाली होर्डिंग हजरतगंज चौराहे पर लगाई गई है। इस होर्डिंग में समाजसेवी और राजनीतिज्ञ सदाफ जफर, वकील मोहम्मद शोएब, थियेटर कलाकार दीपक कबीर और पूर्व आईपीएस अधिकारी जैसे कई अन्य लोगों के नाम दर्ज हैं।

आपको बता दें मजिस्ट्रेट की जांच में दोषी पाए गए लोगों की चौराहे पर होर्डिंग जिला प्रशासन ने लगवाईं हैं। ये होर्डिंग गुरुवार की देर रात लगाई गईं। इनमे सार्वजनिक और निजी सम्पत्तियों को हुए नुकसान का विवरण है। साथ ही लिखा है कि सभी से नुकसान की भरपाई की जाएगी।

बता दें राज्य की योगी सरकार पिछले साल दिसंबर में हुए नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ उत्तर प्रदेश के लखनऊ में हुए प्रदर्शन के बाद अब सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों से जुर्माना वसूलने पर अड़ी है। इन होर्डिंग्स में उन्हीं लोगों की जानकारी दी गई है जिन्होंने इस प्रदर्शन के दौरान सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था।

वही इस मामले को लेकर डीएम अभिषेक प्रकाश ने बताया कि इन होर्डिंग्स पर यह भी लिखा गया है कि मजिस्ट्रेट की कोर्ट से आदेश जारी होने के 30 दिनों में हिं’सा के दो’षी पाए गए लोगों ने यह धनराशि जमा नही की तो उनकी संपत्तियां कुर्क कर इसकी वसूली की जाएगी। ऐसी होर्डिंगे उन सभी थाना क्षेत्रों में लगाई जाएंगी जहां जहां हिं’सा हुई थी।

होर्डिंग्स में प्रदर्शनकारियों के बारे में खुलासा कर इनसे कहा गया है कि वो जल्द से जल्द सरकारी संपत्ति को हुए नुकसान की भरपाई कर दें। इतना ही नहीं यह भी ताकीद की गई है कि अगर इन लोगों ने हर्जाना नहीं भरा तो उनकी संपत्ति कुर्क कर ली जाएगी।

आपको बता दें इन होर्डिंग्स में जिन लोगों के नाम दर्ज हैं उनमें से कई लोगों ने राज्य सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। थियेटर आर्टिस्ट दीपक कबीर ने एक वीडियो जारी कर कहा है कि हमें गिरफ्तार किया गया था प्रताड़ित कर जेल भेज दिया गया। अब हमारे ऊपर दबाव बनाने का यह एक नया तरीका निकला है।

जब मैं जेल में था तब मुझे रिक्वरी के सिलसिले में एक नोटिस मिला था। आप हमारा पता जानते हैं और हमारे बारे में सबकुछ जानते हैं तो फिर यह क्यों? हमारे अंदर डर पैदा करने की कोशिश की जा रही है।

Leave a Comment