अमित शाह के मुंह पर CAA का विरोध करने वाले युवक ने सुनाई दास्तां, कहा- मुझे कुर्सियों से मा’रा पुलिस ने जबरन लिखवाया…

नई दिल्लीः केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की दिल्ली में रैली में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का विरोध करने वाले एक युवक ने आरोप लगाया है कि रैली के दौरान नारे लगाने की वजह से उसकी जमकर पिटाई की गई है। दरअसल बीते रविवार को दिल्ली के बाबरपुर इलाके में गृहमंत्री अमित शाह की एक रैली आयोजित की गई थी।

दरअसल, बाबरपुर इलाके में अमित शाह की रैली के दौरान 20 साल के एक नौजवान ने सीएए के खिलाफ अचानक नारे लगाने शुरू कर दिये। अब इस युवक का कहना है कि उस दिन नारे लगाने के बाद रैली में मौजूद लोगो ने मुझे पीछे से घ’सीट कर जमीन पर गिरा दिया जिसके बाद कई लोगो ने मुझे जमकर मा’रा कई लोगों ने मुझे कुर्सी से पी’टा।

20 साल के हरजीत सिंह दिल्ली यूनिवर्सिटी के छात्र हैं.

वही युवक का यह भी आऱोप है कि पुलिस ने उससे जबरन यह लिखवाया कि वो पागल है। दरअसल, अमित शाह रविवार को दिल्ली के बाबरपुर इलाके में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे, उसी दौरान पांच युवक सीएए को वापस करने की मांग करने लगे तो आसपास मौजूद लोगों ने एक को पकड़कर पी’टना शुरू कर दिया. इस बीच अमित शाह ने सिक्योरिटी को ताकीद किया और कहा कि सिक्योरिटी उसे सही सलामत ले जाए।

आपको बता दें इस युवक का नाम हरजीत सिंह बताया जा रहा है। हरजीत सिंह को चेहरे, पी’ठ और टांग पर कई चोट आई है। अमित शाह की रैली के दौरान हरजीत सिंह ने ‘सीएए वापस लो’ का नारा लगाया था। दिल्ली यूनिवर्सिटी में बीए सेकेंड ईयर के छात्र हरजीत सिंह का कहना है कि दर्शकों द्वारा पी’टे जाने के बाद पुलिस उन्हें उठा कर थाने ले गई।

वही हरजीत सिंह ने कहा की पुलिस ने मुझे बिना किसी अपराध के लॉक-अप में बंद कर दिया। पुलिस वालों ने उनसे कहा कि अगर उन्होंने कागज पर ‘मैं पागल हूं’ नहीं लिखा तो उन्हें लॉक-अप से बाहर नहीं निकाला जाएगा।

हालांकि इस मामले पर डीसीपी वेद प्रकाश सूर्या ने युवक के सभी आरोपों से इनकार किया है। डीसीपी ने कहा की थाने में हरजीत सिंह से कुछ भी जबरदस्ती नहीं लिखवाया गया था। डीसीपी ने कहा कि हम पहले उन्हें रैली से निकाल कर अस्पताल ले गए। जिसके बाद बाद हमने उन्हें उनके माता-पिता के हवाले कर दिया।

Leave a Comment