ज़ी न्यूज़ के मालिक सुभाष चंद्रा की संपत्ति डूबने के कगार पर, भारी कर्ज़ में कंपनी

जी ग्रुप और जी न्यूज के मालिक सुभाष चंद्रा देश के गिने-चुने अरबपतियों की लिस्ट में गिने जाते रहे है लेकिन अब उनकी आर्थिक स्थिति दिन-दिन ख़राब होती जा रही है. भारतीय अरबपतियों की फॉर्चन लिस्ट में शामिल चंद्रा की हैसियत 2018 में 4.7 अरब डॉलर से अधिक की थी, इस लिस्ट में चंद्रा को 27वें स्थान पर रखा गया था लेकिन अब उनकी स्थिति डगमगाने लगी है और उनकी कंपनी की स्थिति ख़राब होती जा रही है.

राज्यसभा सांसद और जी न्यूज के मालिक सुभाष चंद्रा का नाम हाल ही में बैंक स्कैमर में भी सामने आया था. हाल ही में सुभाष चंद्रा घोषित किया था कि उनकी व्यक्तिगत संपत्ति की कीमत चालू वित्त वर्ष 2020 के दौरान फिसलकर 10 करोड़ रुपये के नीचे आ गई है.

Subhash Chandra

एक तरफ जहां मुकेश अंबानी जैसे अरबपति की संपति तेजी से बढ़ रही है, वहीं चंद्रा की संपति में रिकॉर्ड गिरावट देखने को मिली है. बिजनेस स्टैंडर्ड में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार संसद की आचरण समिति को दिये गए अपने वितीय लेखाजोखा में चंद्रा ने कहा है कि उनकी व्यक्तिगत संपत्ति की कुल कीमत 9.85 करोड़ रुपये है.

सुभाष चंद्रा ने पहली घोषणा में कहा था कि वित्त वर्ष 2016 के दौरान उनकी व्यक्तिगत संपत्ति 39.07 करोड़ रुपये की थी यानी मौजूदा घोषित संपत्ति की कीमत के मुकाबले 4 गुना अधिक संपति थी. सुभाष चंद्रा साल 2016 से हरियाणा से स्वतंत्र राज्यसभा सदस्य चुके गए थे.

चंद्रा की संपत्ति में आई भारी गिरावट की वजह एस्सेल समूह पर लगातार चढ़ता कर्ज बताया जा रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एस्सेल समूह पर बैंक कर्ज बढ़कर 12,000 करोड़ रुपये पहुंच गया है. इस कर्ज का ज्यादातर हिस्सा बैंकों व म्युचुअल फंडों से प्रमुख कंपनी ज़ी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज ने अपने शेयर गिरवी रखकर जुटाए थे.

बिजनेस स्टैंडर्ड की खबर के अनुसार एस्सेल समूह की कंपनियों को पुनर्गिठित किये जाने के बाद से कंपनी 11,500 करोड़ रुपये से अधिक चुकाने में सक्षम हुई है, लेकिन इसकी लागत काफी ज्यादा बताई जा रही है. कभी मीडिया मुगल कहे जाने वाले चंद्रा के अनुसार वो सिर्फ भारमुक्त परिसंपत्तियां ही बता रहे हैं.

साभार- जी न्यूज़