VIDEO: जी न्यूज़ ने ‘ज़मीन जिहाद पर चलाया प्रोग्राम, लोग बोले- शुक्र है, कोई मुसलमान बैंक से… वरना गोदी मीडिया इसे…

देश की राजनीती में आजकल बहुत कुछ देखने को मिल रहा राजनीती से बहुत परे और जमीनी हकीकत से कोसो दूर है। राजनीती को लेकर मीडिया तक में दो फाड़ साफ साफ दिखाई दे रहे है। वही बुद्धिजीवी इसे लोकतंत्र के लिए खतरा बता रहे है। अक्सर मीडिया में डेबिट पर ऐसी चर्चा हो रही है जो हकीकत से परे है। देश की अर्थिक, सामाजिक व्यावस्था, और ग्लोबल क्लाइमेट चेंज से किसान पूरी तरह बर्बाद हो रहा है।

ऐसे वक्त में भारतीय नेता एक दूसरे पार्टी पर आरोप -प्रत्यारोप के साथ गौमूत्र और गोबर की बहस शुरू कर दी है। नए -नए नाम दिए जा रहे है। लव जिहाद, बुद्धिजीवी जिहाद, डिजिटल जिहाद ऐसे कई नाम है जो भारतीय मीडिया की देन है। समुदाय विशेष को टारगेट करने वाला ज़ी न्यूज़ ने 11 मार्च को ‘जेहाद’ को लेकर किए गए एक भ’ड़काऊ शो चलाया जिसके बाद सोशल मीडिया पर प्रतिक्रियाओं का दौर सुरु हो गया।

ज़ी न्यूज़ ने 11 मार्च को अपने प्राइम शो ‘DNA’ में ख़ुद से बनाए एक शब्द ज़ीमन जेहाद पर चर्चा की थी। इस दौरान शो के एंकर सुधीर चौधरी ने दर्शकों को ये समझाने की कोशिश की थी कि दुनिया में कितने तरह के जेहाद हैं, जिससे सतर्क रहने की ज़रूरत है।

 

एंकर सुधीर चौधरी ने शो में दावा किया था कि भारत में लव जेहाद की तरह ही ज़मीन जेहाद भी हो रहा है। सुधीर ने बताया कि जम्मू कश्मीर में किस तरह से इस ज़मीन जेहाद को अंजाम दिया गया।

उन्होंने दावा किया कि रोशनी एक्ट नाम के एक कानून के तहत सरकारी ज़मीनों पर अवैध कब्ज़ा करने वाले मुसलमानों को ही ज़मीन का असली मालिक बना दिया गया।

हालंकि इस शो के बाद सोशल मीडिया पर प्रतक्रिया काफ़ी तेज हो गई है। आम लोगों के साथ साथ विपक्ष ने भी जी न्यूज़ के इस प्रोग्रम पर सीधा हमला बोला। कांग्रेस नेता उदित राज ने भी इसपर प्रतिक्रिया देते हुए चैनल पर ज़ोरदार कटाक्ष किया है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा कि, शुक्र है, कोई मुसलमान बैंक से लोन लेकर नहीं भागा, ऐसा होता तो गोदी मीडिया इसे लोन जेहाद बता चुकी होती ।

Leave a Comment